ताज़ा खबर
 

इन 5 कारणों से पेट में होता है असहनीय दर्द, जानें बचाव के घरेलू उपाय

Paet me dard ke gharelu upay: शरीर में जब मैग्नीशियम की कमी, हर्निया और पेट में कम एसिड बनने से एसिड रिफ्लक्स की समस्या हो जाती है

stomach ache, stomach ache medicine, stomach pain remedies, pet me dardलंबे समय तक जो लोग कब्ज़ से पीड़ित रहते हैं, उन्हें गैस, पेट फूलने और पेट में दर्द की शिकायत रहती है

Stomach ache Home Remedies: पेट में दर्द की परेशानी वैसे तो कई बार लोगों को होती है, पर जब तक तकलीफ बढ़ न जाए तब तक लोग इसे हल्के में ही लेते हैं। आमतौर पर पेट दर्द के पीछे कुछ खास कारण होते हैं जिनके बारे में जानना बेहद जरूरी है। अनहेल्दी लाइफस्टाइल के कारण युवा भी इस समस्या से परेशान नजर आते हैं। कई बार कुछ ऐसा खा लेने से या फिर ज्यादा देर तक भूखे रहने से भी पेट में दर्द होने लगता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ बताते हैं कि इन कारणों को जानकर दर्द से निजात पाना आसान हो सकता है। आइए जानते हैं विस्तार से, इन वजहों व पेट दर्द के घरेलू उपायों को –

फूड पॉइजनिंग: बदलते में मौसम में खाने में मौजूद बैक्टीरिया या अन्य टॉक्सिक पदार्थ लोगों को फूड पॉइजनिंग का शिकार बना सकता है। लगातार पेट में दर्द या फिर गैस की अत्यधिक परेशानी इसके लक्षण हैं। इस समस्या को कम करने के लिए लोगों को कुछ देर के अंतराल पर नमक, चीनी और पानी का घोल पीना चाहिए। फूड पॉइजनिंग होने पर सेब का सेवन भी फायदेमंद साबित हो सकता है।

कब्ज़: शरीर में डाइटरी फाइबर की कमी से लोग कॉन्स्टिपेशन से घिर सकते हैं। इसके अलावा, डिहाइड्रेशन, दवाइयां, शारीरिक असक्रियता, मसालेदार खाने से भी ये समस्या उत्पन्न हो जाती है। लंबे समय तक जो लोग कब्ज़ से पीड़ित रहते हैं, उन्हें गैस, पेट फूलने और पेट में दर्द की शिकायत रहती है। इस परेशानी से बचने के लिए लोगों को दलिया, पोहा, फल और हरी सब्जियों को डाइट में शामिल करना चाहिए। खूब पानी पीते रहें, नाशपाती और पपीता जैसे फल खाएं। साथ ही, नींबू पानी और वेजिटेबल स्मूदीज का सेवन भी लाभकारी है।

एसिड रिफ्लक्स: शरीर में जब मैग्नीशियम की कमी, हर्निया और पेट में कम एसिड बनने से एसिड रिफ्लक्स की समस्या हो जाती है। इस कारण पेट में दर्द की शिकायत होती है। इससे निजात पाने के लिए खट्टे फलों, शराब और मसालेदार भोजन से परहेज करना चाहिए। इसके अलावा, सुबह में एलोवेरा जूस और सौंफ-काला जीरा से बना पानी भोजन से पहले पेट में एसिड का स्राव होता है।

दस्त: वायरल इंफेक्शन, ड्रग्स, फूड एलर्जी और सेंसेटिविटी के कारण दस्त की समस्या उत्पन्न होती है। इससे बचने के लिए लोगों को ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ का सेवन करना चाहिए। खासकर नारियल पानी और छांछ पीने से फायदा होगा।

Next Stories
1 दांत और मसूड़ों की मजबूती के लिए रामबाण माने जाते हैं तिल, रोज़ इस तरह करें इस्तेमाल
2 ब्लड में ज्यादा यूरिक एसिड बन सकता है शरीर के लिए खतरा, इन हरे पत्तों को खाने से रहेगा काबू
3 इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर पाचन सुधारने तक में मददगार है तुलसी, जानें खाली पेट इसे खाने के लाभ
ये पढ़ा क्या?
X