ताज़ा खबर
 

तीखे और मसालेदार फूड्स से अब मत करिए परहेज, जानिए दिल और दिमाग के लिए कैसे फायदेमंद हैं मसालेदार भोजन

हरी या फिर लाल मिर्च डालकर बनाए गए तीखे फूड्स आपको मोटापा, कैंसर और डिप्रेशन तक से बचाने में मददगार हो सकते हैं।

spicy foods, spicy foods in india, spicy foods benefits in hindi, spicy food health in hindi, spicy food health effects in hindi, eating spicy food health problems in hindi, spicy food benefits and risks in hindi, spicy foods cure headaches in hindi, spicy food cure hangover in hindi, spicy food cure obesity in hindi, spicy food cure heart diseases in hindi, spicy food cure depression in hindi, jansattaप्रतीकात्मक चित्र

तीखा खाने से होने वाले कई तरह के नुकसान के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा। लोग आपको अक्सर यह कहते मिल जाते होंगे कि तीखा खाने से पेट खराब हो सकता है या फिर शरीर में सूजन आ सकती है। लेकिन आज हम आपको तीखा खाने के कुछ ऐसे फायदों के बारे में बताने वाले हैं जिन्हें जानकर आप निश्चित रूप से चौंक जाने वाले हैं। हरी या फिर लाल मिर्च डालकर बनाए गए तीखे फूड्स आपको मोटापा, कैंसर और डिप्रेशन तक से बचाने में मददगार हो सकते हैं। तो लिए जानते हैं तीखा मसालेदार खाना खाने के फायदों के बारे में-

मोटापा होता है कम – तीखा भोजन आपको कभी मोटा नहीं होने देता। इसका कारण है कि तीखे मसालेदार फूड्स शरीर में फैट को जमा नहीं होने देते। साथ ही इनमें केलोरी भी नाम मात्र की होती है। ऐसे में तीखा मसालेदार खाना मोटापे घटाने में मददगार होता है।

ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहे – ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए तीखे मसालेदार फूड्स फायदेमंद हो सकते हैं। दरअसल खाने का तीखापन शरीर में रक्त के बहाव को नियंत्रित रखता है। इस वजह से हृदय में रक्त का चक्रण सही रहता है और ब्लड प्रेशर की समस्या कम होती है।

तनाव और अवसाद से दिलाए राहत – तीखा भोजन हमारे शरीर में हैप्पी हॉर्मोन सेरोटॉनिन का प्रोडक्शन बढ़ाता है। ऐसे में आपका तनाव काफी हद तक कम हो सकता है।

दिल की सेहत रहे दुरुस्त – तीखी मिर्च शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम करती है। इसके अलावा एक अध्ययन में बताया गया है कि मसालेदार फूड्स से हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा काफी कम होता है।

कैंसर रोकने में मददगार – एक रिसर्च में पता चला है कि मिर्च में पर्याप्त मात्रा में कैप्सेसीन नाम का एल्कॉइड यौगिक पाया जाता है। यह कैंसर कोशिकाओं को कम करने में मदद करता है। हर तरह की मिर्चियों में कैप्सेसीन पाया जाता है।

ध्यान रहे, ज्यादा मात्रा में किसी भी चीज का सेवन सेहत के लिए हानिकारक ही होता है। मसालेदार फूड्स इससे अपवाद नहीं हैं। इसे संतुलित मात्रा में ही खाएं और खाने के बाद पेट में जलन जैसी किसी भी तरह की शिकायत हो तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कैंसर, ब्लड प्रेशर और थॉयराइड का खतरा टालता है तिल का सेवन, जानें तिल के और क्या फायदे बताती हैं न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर
2 माथे पर चंदन लगाने से बढ़ती है एकाग्रता, मुहांसे, तनाव और बुखार से भी दिलाता है निजात
3 हाइपरटेंशन से लेकर ग्लोइंग स्किन तक, जानिए क्या हैं शीशम के बीज के 5 हैरतअंगेज फायदे