ताज़ा खबर
 

मुंह खोलकर सोने के हैं बड़े नुकसान, सही जानकारी से कर सकते हैं बचाव

बहुत से लोग मुंह खोलकर कर सोते हैं। मुंह खोलकर सोना ना केवल खर्राटों का कारण बनता है बल्कि स्वास्थ्य पर भी नकारात्मक प्रभाव डालता है और कई स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रसित कर देता है।

मुंह खोलकर सोने के नुकसान

सोते हुए समग्र स्वास्थ्य पर एक बड़ा प्रभाव पड़ता है। ना केवल सोने की अवधि बल्कि सोने की मुद्रा भी स्वास्थ्य पर प्रभाव डालती है। बेहतर स्वास्थ्य के लिए, एक व्यक्ति को पर्याप्त नींद की आवश्यकता होती है। रोजाना 7-8 घंटे की नींद लेना अनिवार्य है। नींद के दौरान, शरीर खुद को रिपेयर करता है और मांसपेशियों को विकसित करता है। नींद की अवधि के अलावा, उचित तरीके से सोना भी अनिवार्य है। गलत मुद्रा शरीर के दर्द और थकान का कारण बन सकती है। इसके अलावा, कई लोग मुंह खोलकर सोते हैं। मुंह खोलकर सोना ना केवल खर्राटों का कारण बनता है बल्कि स्वास्थ्य पर भी नकारात्मक प्रभाव डालता है। आपको मुंह खोलकर सोने की वजह से होने वाली समस्याओं से अवगत होना चाहिए, ताकि आप जल्द से जल्द सावधानी पूर्वक उपाय कर सकें।

दांतों के लिए हानिकारक:
मुंह खोलकर सोना आपके दांतों को हानि पहुंचाता है। खुले मुंह सोने से हवा का प्रवाह लार को हटा देता है। कम लार बिल्डअप प्लाक को रोकता है जो मुंह में अवांछित बैक्टीरिया की संख्या को बढ़ाता है। इससे दांत क्षतिग्रस्त हो जाता है।

सांसों से बदबू आना:
बदबूदार सांस को हैलिटोसिस भी कहा जाता है और यह लार में कमी के कारण होता है। मुंह से हवा का मार्ग मुंह की गंदगी को साफ करने से रोकता है।

थकान होना:
यदि आप खुले मुंह सोते हैं तो आपके फेफड़ों में ऑक्सीजन का प्रवाह कम हो जाता है। फेफड़ों में कम ऑक्सीजन थकान और कमजोरी का कारण बनता है। यदि आप खुले मुंह सोते हैं तो आप पूरे दिन थका हुआ महसूस करेंगे।

रूखे और फटे होंठ:
खुले मुंह सोने से होंठ शुष्क और फट जाते हैं। जब आप खुले मुंह सोते हैं तो आपके मुंह में द्रव सूख जाता है और आपके होंठ सूख जाते हैं और फट भी जाते हैं। इसके अलावा, मुंह के तरल पदार्थ को सूखने से खाने को निगलने में परेशानी होती है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App