ताज़ा खबर
 

दिखे इन 8 में से एक भी लक्षण, तो समझ लें बीमार बना रहा है तनाव

तनाव केवल एक भावना नहीं है। यह आपके स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है और आपको बीमार बना सकता है। अगर आपको ये लक्षण दिख रहे हैं तो समझ लें कि तनाव आपकी बीमारी का कारण है।

Author नई दिल्ला | October 29, 2018 1:58 PM
प्रतीकात्मक चित्र। (सोर्स- ड्रीम्सटाइम)

हम में से हर कोई जिंदगी में कभी ना कभी तनाव का शिकार होता ही है। तनाव एक हद तक हो तो यह आपके लिए बुरा नहीं होता लेकिन अगर आप लंबे समय तक तनाव झेलते हैं तो यह आपकी सेहत पर बुरा असर डालता है। यह सेहत को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है और आपको बीमार बना सकता है। ऐसे कई संकेत हैं जो बताते हैं कि तनाव आपको बीमार कर रहा है। इनमें से एक भी संकेत दिखने पर सावधान हो जाएं।

वजन में आसामान्य बदलाव:
तनाव के दौरान शरीर में कोर्टिसो हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है। कोर्टिसोल एक स्ट्रेस हार्मोन है। इसके कारण आपके शरीर द्वारा फैट, प्रोटीन और कार्ब्स को मेटाबॉलाइज करने के तरीके में बदलाव होने लगते हैं जिससे वजन बढ़ने या घटने लगता है।

अस्पष्ट विचार:
कोर्टिसोल का स्तर बढ़ जाने से आप किसी भी चीज पर ध्यान केंद्र नहीं कर पाते हैं जिससे विचारों में अस्पष्टता, एकाग्रता कम होना आदि समस्याएं होती हैं।

सिर दर्द:
तनाव के दौरान सिर की मांसपेशियां भी तनाव में होती हैं जिसके कारण सिर दर्द होने लगता है। तनाव के कारण माइग्रेन और अधिक बढ़ सकता है।

बालों का गिरना:
तनाव के कारण आपका इम्यून सिस्टम हेयर फॉलिकल्स पर हमला करने लगता है जिससे ये कमजोर हो जाते हैं। कमजोर हेयर फॉलिकल्स बालों के गिरने का कारण बनते हैं।

मुंहासे:
तनाव होने पर आपके शरीर में कोर्टिसोल का स्तर बढ़ जाता है जिससे त्वचा के ग्लैंड्स अधिक तेल का उत्पादन करने लगते हैं। इससे त्वचा पर गंदगी और मृत कोशिकाएं जमने लगती हैं और मुंहासे हो जाते हैं।

पित्त:
जब आप तनाव में होते हैं तो आपका शरीर एक हिस्टामिन नाम का केमिकल रिलीज करता है जिसके कारण पित्त की समस्या हो सकती है। तनाव के कारण इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है जिसके कारण भी पित्त हो जाता है।

पेट में दर्द:
तनाव के कारण आपका शरीर अधिक डाइजेस्टिव एसिड का उत्पादन करता है। इसके अलावा तनाव के कारण आपका शरीर भोजन को सही तरीके से पचा नहीं पाता जिससे सीने में जलन, पेट में दर्द, ्पेट फूलना, गैस आदि समस्याएं होती हैं।

सर्दी-जुकाम:
तनाव जैसे-जैसे बढ़ता जाता है, आपका इम्यून सिस्टम कमजोर होता जाता है और यह बाहरी वायरस और बैक्टीरिया से लड़ नहीं पाता। ऐसे में आपको बार-बार सर्दी-जुकाम होते रहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App