scorecardresearch

क्या आप भी दोस्तों के साथ शेयर करते हैं खाने की प्लेट? हो सकती है मोनोन्यूक्लिओसिस की बीमारी; जानिए इसके लक्षण

मोनोन्यूक्लिओसिस एक प्रकार का बच्चों व टीनेजर में होने वाला कॉमन वायरल इंफेक्शन है जोकि एपस्टिन-बार-वायरस के द्वारा होता है।

क्या आप भी दोस्तों के साथ शेयर करते हैं खाने की प्लेट? हो सकती है मोनोन्यूक्लिओसिस की बीमारी; जानिए इसके लक्षण
खाने की प्लेट शेयर करने से मोनोन्यूक्लिओसिस नामक बीमारी होने की संभावना होती है। ( Image: Freepik)a

Mononucleosis – Symptoms and Causes : अगर आप अपने दोस्तों या बाकी लोगों के साथ अपने खाने की प्लेट शेयर करते हैं तो यह एक बीमारी को आमंत्रित कर सकता है। यह डिजीज है, जो मुंह से लार निकलने के कारण होता है। इस बीमारी के कारण एपस्टीन-बार नाम का वायरस शरीर में फैलने लगता है। यह वायरस शरीर में मोनोन्यूक्लिओसिस संक्रमण फैलाता है और यह संक्रमण लार के जरिए लोगों तक पहुंचता है। इससे एनीमिया, लीवर की समस्या, हेपेटाइटिस, जोड़ो की समस्या होती है।

यह बीमारी एक-दूसरे का जूठा खाने या जूठा पानी पीने के अलावा किस करने की वजह से भी फैलाती है। यह वायरस लार में पाया जाता है, इसलिए अगर संक्रमित व्यक्ति का टूथब्रश इस्तेमाल किया या उनके साथ एक बर्तन में खाना खाया तो हो सकता है कि इसका शिकार हो जाएं। यह वायरस रक्त और वीर्य में भी पाया जाता है, इसलिए अंग प्रत्यारोपण या यौन संबंध से भी फैल सकता है।

मानव लार 98 प्रतिशत पानी से बना होता है, जबकि शेष 2 प्रतिशत अन्य यौगिकों जैसे इलेक्ट्रोलाइट्स, बलगम, जीवाणुरोधी यौगिकों और एंजाइमों से बना होता है। भोजन के पाचन की प्रक्रिया की शुरुआत में लार एंजाइम आणविक स्तर पर भोजन के कुछ स्टार्च और वसा को तोड़ते हैं।

बता दें कि लार दांतों के बीच फंसे भोजन को भी तोड़ देती है और हानिकारक बैक्टीरिया से बचाती है। लेकिन लार में मौजूद वायरस दूसरों के संपर्क में आने पर उन्हें संक्रमित कर सकता है। अक्सर यह बीमारी टीनएजर्स या बड़ों में ज्यादा देखने को मिलती है। वहीं, छोटे बच्चों में मोनोन्यूक्लिओसिस के लक्षण कम देखे जाते हैं। यह वयस्कों के लिए काफी घातक हो सकता है। आइए जानते हैं इस बीमारी के लक्षण –

कैसे फैलता है मोनोन्यूक्लिओसिस रोग

मोनोन्यूक्लिओसिस आमतौर पर लार के संपर्क में आने से फैलता है। चुंबन के अलावा एक ही थाली में खाना, गंदे बर्तन में खाना आदि खाने से भी यह फैल सकता है। इसके अलावा मोनोन्यूक्लिओसिस रोग खांसने, छींकने से भी फैल सकता है।

मोनोन्यूक्लिओसिस क्या है?

मोनोन्यूक्लिओसिस एक वायरल संक्रमण है। यह रोग ज्यादातर वयस्कों और बच्चों में देखा जाता है। इसे कई लोग किसिंग डिजीज भी कहते हैं, क्योंकि यह बीमारी लार के संपर्क में आने से फैलती है।

यह रोग बुखार, गले में खराश और खांसी का कारण बन सकता है। इस संक्रमण को शरीर से बाहर निकलने में करीब 2 से 3 हफ्ते का समय लग सकता है।

बच्चों में मोनोन्यूक्लिओसिस के लक्षण क्या हैं?

  • फ्लू की समस्या होना
  • खांसी की समस्या
  • हल्का बुखार
  • शरीर मैं दर्द
  • कमज़ोर महसूस
  • गला खराब होना

वयस्कों में मोनोन्यूक्लिओसिस के लक्षण क्या है ?

  • सिरदर्द के साथ तेज बुखार
  • निर्जलीकरण की समस्या होना
  • शरीर पर लाल चकत्ते
  • मुंह के छाले
  • गला खराब होना
  • शरीर में बहुत दर्द हो रहा था।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.