ताज़ा खबर
 

Diabetes रोगियों के लिए रामबाण है सत्तू, पर ज्यादा इस्तेमाल से हो सकता है नुकसान, जानें कितनी मात्रा में करें सेवन

Diabetes Drink: सत्तू में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है, इसे खाने से पेट लंबे समय तक भरा रहता है

सत्तू में बीटा-ग्लूकेन मौजूद होता है जो शरीर मे बढ़ते ग्लूकोज के अवशोषण को कम करता है

Diabetes Control: डायबिटीज रोगियों को स्वास्थ्य विशेषज्ञ हेल्दी भोजन करने की सलाह देते हैं। बता दें कि स्वस्थ खानपान से हाई ब्लड शुगर के मरीज अपने रक्त शर्करा से स्तर पर नियंत्रण रख सकते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार विश्वभर में लगभग 422 मिलियन लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। बता दें कि ये बीमारी लोगों को अपनी चपेट में तब लेती है जब लोगों के शरीर के अहम हिस्से पैंक्रियाज में इंसुलिन का फ्लो कम हो जाता है। इस वजह से खून में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है।

हेल्थ एक्सपर्ट्स मानते हैं कि शरीर में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने से बॉडी के कई हिस्सों में दिक्कत हो सकती है। इसके कारण लोगों की आंखें, हृदय, ब्लड वेसल्स, मस्तिष्क, किडनी और त्वचा प्रभावित होती है। ऐसे में लोगों को हेल्दी भोजन करना चाहिए, माना जाता है कि सत्तू भी डायबिटीज कंट्रोल करने में सहायक है।

पोषक तत्वों का है खजाना: पोषक तत्वों से भरपूर सत्तू शरीर को ऊर्जा तो प्रदान करता ही है, साथ में मेटाबॉलिज्म बूस्ट कर वजन कम करने में भी मदद करता है। ये पाचन तंत्र को बेहतर कर कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में मददगार है। लो सोडियम और मैग्नीशियम, मैंग्नीज व आयरन का उच्च स्तर सत्तू को और भी ज्यादा फायदेमंद बनाता है।

मोटापा करता है कंट्रोल: डायबिटीज पेशेंट को अपने वजन पर संतुलन रखना बेहद जरूरी है। इससे उनका ब्लड शुगर भी काबू में रहता है, सत्तू भी मोटापा कम करने में सहायक है। सत्तू में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है, इसे खाने से पेट लंबे समय तक भरा रहता है। ऐसे में लोग ओवर ईटिंग से बच जाते हैं और उनका वजन नियंत्रित रहता है। इसके अलावा, सत्तू में मौजूद पोषक तत्व शरीर के टॉक्सिंस को फ्लश आउट करने में मदद करता है। साथ ही, शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट को बर्न करने में भी सत्तू मददगार है।

ब्लड शुगर पर रखता है काबू: सत्तू में बीटा-ग्लूकेन मौजूद होता है जो शरीर मे बढ़ते ग्लूकोज के अवशोषण को कम करता है जिससे रक्त शर्करा के स्तर पर नियंत्रण रखने में मदद मिलती है। दिन में एक गिलास सत्तू पीना काफी है, इससे अधिक पीने से गैस या पेट में दर्द जैसी परेशानियां हो सकती हैं।

Next Stories
1 वायु प्रदूषण : देश में सालाना सात लाख करोड़ कारोबार का नुकसान
2 कोरोना काल में कितना होना चाहिए हेल्दी ऑक्सीजन लेवल? इस ट्रिक से आसानी से बढ़ा सकते हैं इसका स्तर
3 इन 5 बीमारियों से ग्रस्त लोगों को नहीं खाना चाहिए बादाम, हो सकता है फायदे की जगह नुकसान
ये पढ़ा क्या?
X