scorecardresearch

सलमान खान के बॉडी डबल की जिम में हार्ट अटैक से मौत: जानिये एक्सरसाइज के दौरान क्या करें और क्या नहीं

कई सितारों की कम उम्र में हो रही हार्ट अटैक से मौत गंभीर विषय बन गया है। डॉक्टर्स ने इसके पीछे वर्कआउट को लेकर ज्ञान की कमी और लक्षणों को नजरअंदाज करना बताया है।

सलमान खान के बॉडी डबल की जिम में हार्ट अटैक से मौत: जानिये एक्सरसाइज के दौरान क्या करें और क्या नहीं
हार्ट अटैक से एक्टर सागर पांडे का निधन (Photo: Salman Khan/Instagram))

आजकल हार्ट अटैक आम बात होती जा रही है। ज्यादातर लोगों में वर्कआउट करते समय हार्ट अटैक होना सामने आ रहा है। बीते दिनों राजू श्रीवास्तव को भी दिल का दौरा पड़ा था। उनसे पहले दीपक भान की मौत का कारण भी दिल का दौरा ही बताया गया था। अब सलमान खान की फिल्म बॉडी डबल का रोल निभा चुके एक्टर सागर पांडे की भी हार्ट अटैक से मौत हो गई है। वर्कआउट के समय दिल का दौरा पड़ने के पीछे का क्या कारण है, इसक बारे में हम आज बात करने वाले है।

डॉक्टर जाकिया खान के मुताबिक किसी भी अन्य दक्षिण एशियाई देशों की तुलना में भारत में कार्डियो-वैस्कुलर घटनाएं ज्यादा देखने को मिल रही हैं। जिसके लिए वर्कआउट रूटीन और डाइट पर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है। ज्यादातर युवा जोश में आकर ये बेसिक चीजों का ध्यान नहीं देते और वर्कआउट को अपनी आदत बना लेते हैं। जिसके कारण ऐसी अचानक हार्टअटैक की स्थिति बन जाती है।

भारी वर्कआउट से पहले कराएं जांच
किसी भी वर्कआउट को चुनने से पहले, खासकर जो शरीर पर अधिक असर डातली हैं, जैसे वेट लिफ्टिंग, क्रंच, डेडलिफ्ट और पुल-अप कई बातों का ध्यान रखना चाहिए। इस तरह के वर्कआउट शुरू करने से पहले स्ट्रेस लेवल की जांच करवानी जरूरी है। अपनी मर्जी से ऐसे वर्कआउट के लिए साइन अप नहीं करना चाहिए। इस टेस्ट के दौरान एक हेल्थ केयर प्रोफेशनल ट्रेडमिल पर चलते या बाइक पेडल करते हुए दिल की धड़कन चेक करता है। इस टेस्ट से पता चल जाता है कि कहीं कोई दिल से जुड़ी समस्या तो नहीं है, इसके साथ ही दिल की फंक्शनिंग का भी पता चल जाता है। अगर समय पर ये टेस्ट करा लिया जाए तो अचानक होने वाली मौत से बचा जा सकता है।

पानी पीना है बेहद जरूरी
दिनभर में पर्याप्त पीने की सलाह तो हर कोई देता है लेकिन अपने पूरे व्यायाम के दौरान पानी पीना भी बेहद जरूरी है। व्यायाम के दौरान पर्याप्त पानी पीने से आपकी परफॉर्मेंस भी सही रहती है और भारी वर्कआउट सेशन के बाद नॉर्मल होने में भी मदद करता है।

सही पोस्चर है जरूरी
यदि आप जिम में नए हैं या सिर्फ एक नए वर्कआउट शुरू कर रहे हैं, तो इसे किसी विशेष ट्रेनर के सुपरविजन में ही करें। सही पोस्चर, रूटीन और वर्कआउट की टेकनीक बेहद जरूरी होती है। वर्कआउट के दौरान सांसों का खास ध्यान रखा जाना चाहिए।

इन सभी बातों के अलावा हमेशा याद रखें कि शरीर को जरूरत से अधिक धकाना समझदारी नहीं है। अगर शरीर में किसी प्रकार की समस्या महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। कई बार लापरवाही हमारे लिए जान की दुश्मन बन जाती है। यदि समय पर किसी परेशानी का पता चल जाए तो कुछ बुरा होने से बचा जा सकता है।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 02-10-2022 at 05:18:52 pm
अपडेट