ताज़ा खबर
 

सलमान खान इस बीमारी का कर रहे हैं सामना, जानें इसके लक्षण, कारण और उपचार

सलमान खान पिछले कई वर्षों से ट्राईजेमिनल न्यूरलजिया नामक बीमारी से जूक्ष रहे हैं। हालांकि अमेरिका में इलाज होने के बाद उनकी यह समस्या अब कम है। लेकिन आपको इसके कारण, लक्षण और इलाज की जानकारी जरूर होनी चाहिए।

Author January 14, 2019 1:02 PM
सलमान खान (Source: Instagram)

बॉलीवुड के कई सेलिब्रिटिज स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं से पीड़ित हैं और उनमें से एक सलमान खान भी हैं। 2017 के दौरान हुए एक इंटरव्यू में सलमान खान ने बताया कि उन्हें ट्राइजेमिनल न्यूरैल्जिया की समस्या है। फेशियल नर्व डिसऑर्डर को मेडिकल प्रैक्टिस के लिए सबसे दर्दनाक पीड़ाओं में से एक माना जाता है। सलमान खान ने इंटरव्यू में कहा कि इस बीमारी में बेहद परेशानी होती है और कई बार तो बोलते वक्त भी असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है। साथ ही इसके कारण होने वाला दर्द कुछ सेकेंड या फिर कुछ मिनट के लिए रहते हैं। सलमान इलाज के लिए अमेरिका भी गए और अब उनकी कंडीशन पहले से बेहतर भी है।

फेशियल पेन एसोसिएशन के अनुसार, ट्राइजेमिनल न्यूरैल्जिया के कारण होने वाले दर्द की वजह से कई बार इंसान डिप्रेशन का शिकार भी हो जाता है। ट्राइजेमिनल न्यूराल्जिया आमतौर पर एक दीर्घकालिक स्थिति है और नर्व डिसऑर्डर का कोई इलाज नहीं है। लेकिन, उपचार लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है। ज्यादातर मामलों में, इस स्थिति को सर्जरी, इंजेक्शन या फिर मेडिकेशन से नियंत्रित किया जा सकता है। लेकिन चरम मामलों में, दर्द के कारण चेहरे को धोने, दाढ़ी बनाने और मौखिक स्वच्छता करने में कठिनाई होती है।

न्यूराल्जिया आमतौर के लक्षण:

इस स्थिति में नसों में भयानक दर्द और ऐंठन होती है।
इस बीमारी का अधिक प्रभाव सिर, जबड़ों और गालों पर होता है।

खाते-पीते, बात करते वक्त या फिर शेव करते वक्त दर्द होना।

इस बीमारी के दौरान प्रभावित हिस्से पर हवा के तेज झोकें के अचानक छू जानें से भी दर्द होना।

ट्राईजेमिनल न्यूरलजिया के कारण:

किसी बीमारी, ट्यूमर या फिर किसी दुर्घटना में नर्व दब जानें के कारण यह रोग हो सकता है।

टंग पियर्सिंग से भी यह रोग होने की संभावना बढ़ जाती है।

ट्राईजेमिनल न्यूरलजिया का इलाज:

हालांकि इस बीमारी को खत्म नहीं किया जा सकता है, लेकिन सर्जरी, मेडिकेशन और इंजेक्शन की मदद से इस बीमारी के कारण होने वाले दर्द को कुछ समय के लिए कम किया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App