Uric Acid: हाई यूरिक एसिड में बढ़ जाता है हृदय रोगों का खतरा, इन टिप्स की मदद से हृदय को रखें स्वस्थ

कई अध्ययनों में इस बात का खुलासा हुआ है कि अगर रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो हम हृदय रोग का शिकार हो सकते हैं। इससे हार्ट अटैक की संभावना भी बढ़ जाती है।

heart disease, high uric acid, high uric acid control
हृदय को स्वस्थ रखने के लिए हमें अपने खानपान और व्यायाम पर ध्यान देने की जरूरत है (photo- Thinkstock/File)

High Uric Acid: मानव शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ जाना कई बीमारियों को आमंत्रित करता है। यूरिक एसिड की मात्रा अगर सामान्य बनी रहे तो हमें कोई परेशानी नहीं होती लेकिन ये मात्रा अगर बढ़ जाए तो हम कई प्रकार की बीमारियों का शिकार हो सकते हैं। यूरिक एसिड प्यूरिन के टूटने से बनता है। दरअसल हमारे खानपान में इस्तेमाल होने वाली कई चीजों में प्यूरिन होता है जो पाचन के दौरान यूरिक एसिड का रूप ले लेता है। हमारी किडनी इसे छानकर अलग कर देती है लेकिन अधिकता होने पर किडनी पूरी तरह इसे छान नहीं पाती और यह शरीर में ही जमा होने लगता है।

हाई यूरिक एसिड से हृदय रोगों का खतरा- यूरिक एसिड की मात्रा अगर शरीर में बढ़ जाए तो हृदय रोगों का खतरा कई गुना बढ़ जाता है। कई अध्ययनों में इस बात का खुलासा हुआ है कि अगर रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो हम हृदय रोग का शिकार हो सकते हैं। इससे हार्ट अटैक की संभावना भी बढ़ जाती है।

इससे बचने के लिए हमें यूरिक एसिड के स्तर को कम करने के साथ साथ हृदय के स्वास्थ्य पर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इन हेल्थ टिप्स को ध्यान में रखकर आप अपने हृदय को स्वस्थ बना सकते हैं-

धूम्रपान से बनाएं दूरी- धूम्रपान कई तरह की बीमारियों को न्योता देता है इसलिए इससे दूरी बनाकर रखें। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के मुताबिक, धूम्रपान छोड़ना केवल हृदय के लिए ही नहीं बल्कि हमारे संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए लाभकारी है।

पेट का बढ़ना रोकें- मोटापा हृदय रोग के लिए खतरनाक साबित हो सकता है और उससे भी अधिक खतरनाक होता है बेली फैट का बढ़ना। जर्नल ऑफ़ अमेरिकन कॉलेज ऑफ़ कार्डियोलॉजी का कहना है कि पेट के पास अधिक चर्बी यानी बेली फैट हमारे ब्लड प्रेशर को बढ़ा देता है जिससे हार्ट अटैक का खतरा बना रहता है। इसके लिए आप खानपान पर ध्यान दें और नियमित व्यायाम करें।

फाइबर रिच फ़ूड का करें सेवन- मेयो क्लिनिक के मुताबिक, फाइबर युक्त भोजन करने से हमारे शरीर का बैड कॉलेस्ट्रोल कम होता है। खाने में बीन्स, ताज़ी सब्जी, राजमा को शामिल करें और सेब, नाशपाती, एवोकेडो आदि फलों का सेवन करें।

खाने में नमक की मात्रा को घटाएं- लीडिंग हेल्थ वेबसाइट ‘हेल्थलाइन’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक दिन में हम जितना नमक खाते हैं, उसमें से आधा चम्मच कम कर दें तो हम हृदय रोगों से बच सकते हैं। रेस्त्रां के खाने और प्रोसेस्ड फूड्स में नमक की मात्रा बहुत अधिक होती है इसलिए इनके सेवन से बचें।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।