ताज़ा खबर
 

ऑर्गेज्म से जुड़ी समस्याओं से परेशान हैं तो ये आसान नुस्खे कर सकते हैं आपकी मदद

ऑर्गेज्मिक डिसफंक्शन शारीरिक या फिर भावनात्मक कारणों से हो सकता है। तकरीबन हर तीन में से एक महिला इस समस्या से पीड़ित होती है।

प्रतीकात्मक चित्र

शारीरिक संबंध बनाते वक्त कभी -कभी ऐसे होता है कि पुरुष जल्दी ही ऑर्गेज्म प्राप्त कर लेते हैं जबकि महिला को ऑर्गेज्म पाने के लिए और अधिक उत्तेजना की जरूरत होती है। लेकिन कुछ मामलों में ऐसा भी होता है कि बहुत ज्यादा उत्तेजित होने के बावजूद ऑर्गेज्म नहीं मिलता। इसी अवस्था को ऑर्गेज्मिक डिसफंक्शन कहा जाता है। ऑर्गेज्मिक डिसफंक्शन शारीरिक या फिर भावनात्मक कारणों से हो सकता है। तकरीबन हर तीन में से एक महिला इस समस्या से पीड़ित होती है। इसकी वजह से आपकी सेक्स लाइफ बिल्कुल नीरस हो जाती है। उम्र, शर्मिंदगी, धार्मिक मान्यताएं, डायबिटीज इत्यादि ऑर्गेज्मिक डिसफंक्शन के कारक होते हैं। इससे निजात पाने के लिए कुछ नुस्खों का इस्तेमाल किया जा सकता है जिसके बारे में आज हम आपको बताने वाले हैं-

1. कपल काउंसलिंग – कभी कभी आप एक दूसरे से किसी झगड़े या मनमुटाव की वजह से ठीक तरीके से ऑर्गेज्म नहीं प्राप्त कर पाते। ऐसे में आप किसी अच्छे काउंसलर से मिलकर इस समस्या के समाधान की कोशिश कर सकते हैं।

2. ऑस्ट्रोजन हॉर्मोन थेरेपी – यह ऑर्गेज्म को बेहतर बनाने के लिए बेहतर समाधान है। इसमें जननांगों में रक्त प्रवाह को दुरुस्त कर सेक्स ड्राइव को बढ़ाने की कोशिश की जाती है। यह यौनांगों की संवेदनशीलता को बढ़ाता है।

3. पार्टनर के साथ बेहतर कम्यूनिकेशन – पार्टनर के साथ बेहतर कम्यूनिकेशन भी आपके ऑर्गेज्मिक डिस्फंक्शन में सुधार ला सकता है। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने पार्टनर से अपनी पसंद या नापसंद पर बात करें। शारीरिक संबंध बनाने के दौरान पार्टनर्स के बीच कम्यूनिकेशन बहुत महत्वपूर्ण होता है। इससे आप अपनी जरूरतों को एक दूसरे के साथ साझा कर सकते हैं।

4. इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का इलाज – ज्यादातर पुरुष समय-समय पर इस समस्या से दो-चार होते रहते हैं ऐसे में इसे रोकने के लिए कुछ उपाय आजमाए जा सकते हैं। जैसे – शराब आदि नशे वाले पदार्थों का सेवन बंद कर दें। नियमित रूप से एक्सरसाइज करें और तनाव कम रखें। पर्याप्त नींद भी इसके लिए बेहद जरूरी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App