ताज़ा खबर
 

किशमिश खाने से बढ़ सकता है मोटापा, जानिए नुकसान और फायदे

रोजाना सुबह 5-6 किशमिश का सेवन करने से गैस कब्ज, एसिडिटी और आलस्य को दूर करने में मदद मिलती है।

किशमिश में फ्रुक्टोज की भारी मात्रा पाई जाती है जो खून में ट्राई ग्लाइसेराइड की मात्रा को बढ़ता है जिससे डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है।

किशमिश को अच्छे स्वाद और कई फायदों के लिए जाना जाता है। इसका मीठा स्वाद लोगों को काफी पसंद आता है। स्वाद की वजह से किशमिश का इस्तेमाल मेवों के साथ मिलाकर भी किया जाता है। मेवे के साथ किशमिश का स्वाद और भी अच्छा हो जाता है। किशमिश को सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इसमें विटामिन बी, आयरन, पोटैशियम और कार्बोहाइड्रेट्स मौजूद होते हैं, जो ब्लड प्रेशर और कोलेस्टरोल को मेंटेन रखने के साथ, दिमाग को भी तेज बनाते हैं। इसके अलावा किशमिश खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है और कब्ज, पेट का दर्द, गैस, एसिडिटी से राहत मिलती है। वहीं किशमिश खाने से कुछ नुकसान भी होते हैं जिनके बारे में कम लोग ही जानते होंगे। चलिए आज हम आपको किशमिश के कुछ फायदों के साथ नुकसान के बारे में बताते हैं।

किशमिश के नुकसान

– किशमिश में फ्रुक्टोज की भारी मात्रा पाई जाती है जो खून में ट्राई ग्लाइसेराइड की मात्रा को बढ़ता है जिससे डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है।

– शुगर के मरीजों को किशमिश का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेने की बात कही जाती है। मीठा होने की वजह से किशमिश खाने पर शुगर लेवल बढ़ सकता है।

– किशमिश में फ्रुक्टोज के साथ-साथ ग्लूकोज भी भरपूर मात्रा में होता है, जो वजन बढ़ाकर शरीर को मोटा करता है।

– किशमिस का ज्यादा इस्तेमाल करने से लिवर को नुकसान पहुंच सकता है।

किशमिश के फायदे

– रोजाना सुबह 5-6 किशमिश का सेवन करने से गैस कब्ज, एसिडिटी और आलस्य को दूर करने में मदद मिलती है।

– किशमिश का सेवन करने से शरीर में बढ़ी हुई कोलेस्टेरॉल की मात्रा और ट्राईग्लिसेराइड्स के स्तर को मेंटेन किया जा सकता है।

– किशमिश का सेवन करने से बालों का झड़ने से रोकने के अलावा चेहरे पर झुरिया, दाग – धब्बों और चमड़ी रोग से निजात पाई जा सकती है।

– किशमिश बैक्टीरिया विरोधी होता हैं, जो हलकी खासी, बुखार और मलेरिया को जड़ से समाप्त कर सकता है।

– इसमें बोरान नामक तत्व पाया जाता है, जो दिमाग को तेज़ बनाने का काम करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App