ताज़ा खबर
 

Purine युक्त फूड्स से होता है हाई यूरिक एसिड का खतरा, जानें क्या खाएं और क्या नहीं

Uric Acid Natural Remedies: शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा कम करने के लिए लोग सेब के सिरके का इस्तेमाल भी कर सकते हैं

लो प्यूरीन डाइट फॉलो करने से यूरिक एसिड कंट्रोल करने में मदद मिलती है

Uric Acid Remedies: शरीर में जब प्यूरीन की मात्रा अधिक हो जाती है तो इससे हाई यूरिक एसिड का खतरा बढ़ जाता है। प्यूरीन प्रोटीन के ब्रेक डाउन होने पर रक्त में यूरिक एसिड केमिकल का प्रोडक्शन होता है। ऐसे में प्यूरीन की मात्रा ज्यादा होने से खून में यूरिक एसिड भी बढ़ेगा। बता दें कि प्यूरीन शरीर में अपने आप तो बनता है, साथ में कुछ फूड्स में भी ये पाए जाते हैं। ऐसे में लोगों को प्यूरीन युक्त फूड्स का सेवन कम से कम करना चाहिए। ऐसे में जानते हैं कि किन फूड्स में प्यूरीन की अधिकता होती है और यूरिक एसिड कंट्रोल करने के लिए क्या खा सकते हैं लोग –

इन चीजों में ज्यादा होती है प्यूरीन की मात्रा: प्यूरीन के अत्यधिक सेवन से यूरिक एसिड बनता है जो क्रिसटल्स के रूप में जोड़ों में जमा हो जाते हैं और दर्द व सूजन का कारण बनते हैं। बताया जाता है कि यूरिक एसिड की एक-तिहाई मात्रा में प्यूरीन के कारण ही होती है। हाई प्यूरीन फूड्स में होती है इनकी गिनती –

ऑर्गन मीट
एल्कोहल
सी फूड जैसे कि क्रैब, शेल फिश, प्रॉन, सरडाइंस, मैकेरल मछलियां
हाई फ्रुक्टोज ड्रिंक
एस्पैरेगस
गोभी
पालक
मशरूम
हरे मटर
बीन्स
राजमा
मसूर दाल
ओटमील
बीयर
घी

यूरिक एसिड के मरीज किन चीजों का करें सेवन: लो प्यूरीन डाइट फॉलो करने से यूरिक एसिड कंट्रोल करने में मदद मिलती है। साथ ही, जिन फूड्स में एंटी-ऑक्सीडेंट्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं वो भी लोगों के लिए फायदेमंद होंगे। एक्सपर्ट्स बताते हैं कि फल और सब्जियों का सेवन मरीजों के लिए लाभकारी साबित होगा। फलों में ब्लैक चेरी, सेब, केला, अंगूर, संतरा, अमरूद और स्ट्रॉबेरीज का सेवन कर सकते हैं। वहीं, सब्जियों में करेला, लौकी, शिमला मिर्च खाना यूरिक एसिड कंट्रोल करने में मददगार है।

ये घरेलू उपाय हैं प्रभावी: एक्सपर्ट्स के अनुसार कुछ घरेलू उपाय भी यूरिक एसिड कंट्रोल करने में प्रभावी होते हैं। अजवाइन, सौंफ, दालचीनी और इलायची जैसे रसोई के कई मसाले गठिया जैसे रोगों को दूर रखता है। वहीं, ग्रीन टी, कॉफी, छाछ, सेब का सिरका, नारियल पानी भी यूरिक एसिड काबू में करता है। ये ड्रिंक विषाक्त पदार्थों को फ्लश आउट करने में मदद करता है।

Next Stories
1 फैटी लिवर की परेशानी कम करने में मदद करता है करेले का जूस, जानें इसे पीने के दूसरे फायदे
2 खाने-पीने की इन 5 चीजों से रहें दूर, कंट्रोल में रहेगा ब्लड प्रेशर लेवल
3 डायबिटीज मरीजों को हो सकती है आंखों की रोशनी कम होने की शिकायत, जानें दूसरे लक्षण और बचाव के उपाय
आज का राशिफल
X