ताज़ा खबर
 

‘गोल्डन नी’ सर्जरी से दूर हुई तकलीफ

यहां के एक निजी अस्पताल में डॉक्टरों ने अपने तरह के एक अनोखा ऑपरेशन को अंजाम देते हुए 65 वर्षीय व्यक्ति को 'गोल्डन नी' प्रतिरोपण (ट्रांसप्लांट) के जरिए उसके दर्द से निजात दिलाई..

Author जयपुर | November 3, 2015 7:01 AM
syria, syrian hungry, Islamic State, ISIS, Goldआइएस आतंकियों के कब्जे से भागने की अनुमति हासिल करने के लिए अपना सोना, कीमती चीजें और यहां तक कि अपने घर भी अशांत सीरिया के लोग बेचैन रहे हैं। (प्रतीकात्मक चित्र)

यहां के एक निजी अस्पताल में डॉक्टरों ने अपने तरह के एक अनोखा ऑपरेशन को अंजाम देते हुए 65 वर्षीय व्यक्ति को ‘गोल्डन नी’ प्रतिरोपण (ट्रांसप्लांट) के जरिए उसके दर्द से निजात दिलाई।

डॉक्टर ने कहा कि मुनीश जोशी के बाएं घुटने की जगह सोने की तरह दिखने वाली जिरकोनियम (पीले धातु की तरह नजर आने वाली) के सात परतों को प्रत्यारोपित किया गया है। उन्होंने कहा कि यह सर्जरी पिछले सप्ताह की गई थी और अब मरीज सफलतापूर्वक चल फिर रहा है।

सर्जरी करने वाले डॉक्टर ने दावा किया है कि राजस्थान मेडिकल विज्ञान के इतिहास में यह अपनी तरह का पहला ऑपरेशन है। डॉक्टर ने बताया कि अनियंत्रित मधुमेह (डायबिटीज) की वजह से मरीज के शरीर के दूसरे हिस्सों पर गंभीर प्रभाव पड़ रहा था जिससे एलर्जी और इंफेक्शन शरीर में फैलता जा रहा था। ‘गोल्डन नी’ के जरिए उनकी परेशानी दूर हो गई।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Next Stories
1 रोजाना 30 मिनट के व्यायाम से कम हो सकते हैं अस्थमा के लक्षण
ये पढ़ा क्या?
X