मुंह की दुर्गंध की वजह से नहीं कर पाते किसी से बात? एक्सपर्ट्स से जानिये कैसे पाएं छुटकारा

ओरल हेल्थ (Oral Health) का यदि ख्याल न रखा जाए, तो आपको इन तकलीफ़ों को झेलना पड़ सकता है। आइए जानते हैं ओरल हेल्थ से होने वाली तकलीफ़ों के बारे में।

bad-mouth-breath
ओरल प्रॉब्लम्स मस्तिष्क से जुड़ी समस्याओं का खतरा भी बढ़ा सकती है। (File Photo)

हमारे लिए शरीर के बाकि अंग जितने महत्वपूर्ण हैं उतना ही महत्वपूर्ण है ओरल हेल्थ। जीवन में हम सभी के लिए बाहर से दिखने वाले शरीर के अंगों जैसे कि बाल और त्वचा का ख्याल रखना जरुरी होता है उसी तरह ओरल हेल्थ पर भी हमको उतना ही ध्यान देना चाहिए। आपको यह जानकार आश्चर्य हो सकता है कि भारत में 80 प्रतिशत लोग किसी न किसी प्रकार की ओरल हेल्थ यानी मुंह की समस्या से परेशान हैं। बावजूद लोगों में ओरल हेल्थ को लेकर जागरूकता नहीं है ऐसे में हम दांतों का उतना ख्याल नहीं रखते जितना की शरीर के बाहरी हिस्सों पर ध्यान देते हैं।

दांतों की सफाई न करने से कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। यहां तक दांतों का ठीक प्रकार से ख्याल नहीं रखने से 70 फीसदी हृदय की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। आज हम आपको एक्सपर्ट्स के जरिये बताएंगे कि दांतों का कैसे ख्याल रखना चाहिए।

दंत चिकित्सक डॉक्टर मो. रिज़वान खान ने जनसत्ता डॉट कॉम से बात करते हुए बताया कि हमारे मुंह की स्वच्छता का असर हमारे पूरे स्वास्थ्य पर पड़ता है। इसलिए हमारे लिए ओरल हेल्थ मेंटेन करना बेहद जरूरी हो जाता है। ओरल प्रॉब्लम्स मस्तिष्क से जुड़ी समस्याओं का खतरा भी बढ़ा सकती है। इसलिए ओरल हेल्थ को बेहतर बनाए रखना आपके लिए और भी जरूरी हो जाता है।

आपको बता दें कि नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन (NCBI) के अनुसार दांतों में होने वाली बीमारी की वजह से हृदय और मष्तिष्क तथा अन्य बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए ओरल हेल्थ हाइजीन का ध्यान रखे हुए दांतों से जुड़ी परेशानी को नज़रंदाज नहीं करना चाहिए। जर्नल ऑफ इंडियन सोसायटी ऑफ पीरियडोंटोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक मसूड़ों की बीमारी के कारण किसी व्यक्ति को हृदय रोग का खतरा लगभग 20 फीसदी तक बढ़ सकता है।

अच्छे ओरल हेल्थ की पहचान: डॉ. खान के मुताबिक अच्छे ओरल हेल्थ की पहचान करना बहुत ही आसान है, जैसे आपके मसूड़ों का रंग गुलाबी होना चाहिए, ब्रशिंग और फ्लॉसिंग के दौरान मसूड़ों में से ख़ून नहीं बहना चाहिए व इसके अलावा दांत साफ और स्मूद हों, मुंह से बदबू नहीं आना, दांत सेंसेटिव नहीं होना, जीभ गुलाबी, साफ और मॉइस्ट हो और कुछ भी चबाने पर आपके दांतों में दर्द नहीं होता है तो आपके दांत अच्छे हैं।

कैसे रखें दांतों का ख्याल: डॉ. खान ने बताया कि दिन में दो बार ब्रश करें साथ ही एक बार ब्रश करने में तीन मिनट का समय दें। वहीं ब्रश करते समय दांतों और मसूड़ों पर ब्रश को ज्यादा नहीं रगड़ें नहीं, ब्रश करने के बाद उंगली से धीरे-धीरे मसूड़ों की मालिश करें। ऐसे करने से मसूड़े मजबूत होते हैं। कुछ भी खाने के बाद कुल्ला जरूर करें। साल में कम से कम दो बार किसी अच्छे डेंटिस्ट से अपने ओरल हेल्थ की जांच करवाएं।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट