ओमेगा-3 फैटी एसिड मजबूत इम्युनिटी के लिए है जरूरी, इन 3 फूड्स से करें इसकी कमी को दूर

Omega-3 Fatty Acids: अल्फा लिनोलेनिक एसिड, इकोसेपेंटैनोइक एसिड और डोकोसाहेक्सेनोइक एसिड, ये ओमेगा-3 फैटी एसिड्स के 3 प्रकार हैं

immunity, immunity booster, immunity boosting tips, omega-3 fatty acidsसाल्मन और मैकेरल जैसी मछलियों में प्रचुर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है

Immunity Boosting Tips: वर्तमान समय में इम्युनिटी का मजबूत होना आवश्यक है। इससे कोरोना संक्रमण का खतरा तो कम होता ही है, साथ में अन्य बीमारियों से घिरने का जोखिम भी कम होता है। इस कोरोना काल में अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए लोग तमाम कोशिश कर रहे हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि हेल्दी फूड्स रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकते हैं। कई पोषक तत्व जिनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड भी शामिल है, स्ट्रॉन्ग इम्युनिटी के लिए जिम्मेदार होते हैं।

ओमेगा-3 फैटी एसिड मेंब्रेन का एक महत्वपूर्ण तत्व है जो शरीर के हर सेल को घेरकर रखता है। ये फैटी एसिड कैलोरीज के जरिये शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है, हृदय की कार्य प्रणाली को मजबूत बनाता है, साइकोलॉजिकल हेल्थ को बेहतर करता है। इसके अलावा, फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाना, सूजन से लड़ना और रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है।

तीन तरह के होते हैं ओमेगा फैटी एसिड्स: अल्फा लिनोलेनिक एसिड, इकोसेपेंटैनोइक एसिड और डोकोसाहेक्सेनोइक एसिड, ये ओमेगा-3 फैटी एसिड्स के 3 प्रकार हैं। माना जाता है कि इस पोषक तत्व को कई फूड सोर्स के जरिये शरीर तक पहुंचाया जा सकता है। जानिये इसके 3 बेहतरीन स्रोत –

सीड्स: अलसी के बीज जिसे अंग्रेजी में फ्लैक्स सीड्स कहते हैं, साथ ही चिया सीड्स में भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स पाए जाते हैं। इसके अलावा, इन बीजों में मैग्नीशियम, आयरन, फाइबर जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में मददगार हैं। साथ ही, फ्री रैडिकल्स से लड़ने में शरीर को ताकत प्रदान करते हैं।

अखरोट: अखरोट में प्रचुर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स पाया जाता है जो दिल को स्वस्थ रखने में मददगार साबित होता है। इस नट में मोनोअनसैच्युरेटेड फैट्स होता है जो ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करता है। साथ ही, इसमें एंटी-इंफ्लेमेट्री तत्व होते हैं।

मछली: साल्मन और मैकेरल जैसी मछलियों में प्रचुर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। साथ ही, ये मछलियां मैग्नीशियम और प्रोटीन होता है जो मांसपेशियों को रिकवर करने और हार्ट डिजीज के खतरे को कम करता है। इसमें विटामिन बी12, डी जैसे जरूरी विटामिन्स और सेलेनियम होता है जो इम्युनिटी बूस्ट करने में मदद करता है।

Next Stories
1 भीषण गर्मी में रहना है बीमारियों से दूर तो इन टिप्स को फॉलो करना न भूलें
2 Diet In Fatty Liver: फैटी लिवर के मरीजों को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, जानिये
3 यूरिक एसिड को कम करने में कारगर है प्याज, जानिये इस्तेमाल का तरीका
यह पढ़ा क्या?
X