ताज़ा खबर
 

इम्युनिटी बढ़ाने के साथ ही डायबिटीज को भी कंट्रोल करता है भिंडी का पानी लेकिन ये लोग भूलकर भी ना करें इसका सेवन

भिंडी के पानी में विटामिन के और फाइबर की अच्छी-खासी मात्रा मौजूद होती है। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम कर दिल को स्वस्थ रखने में कारगर है।

शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने में कारगर हैं भिंडी का पानी (फोटो क्रेडिट- जनसत्ता)

सभी भारतीय घरों में पाई जाने वाली भिंडी को यूं तो सब्जी के रूप में खाया जाता है। लेकिन इसी के साथ भिंडी कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से छुटकारा दिलाने में कारगर है। भिंडी में मौजूद विटामिन, पोटैशियम, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, लिनोलेनिक और ओलिक एसिड की अच्छी खासी मात्रा होती है। जो डायबिटीज यानी मधुमेह की बीमारी को कंट्रोल करने में कारगर है।

इसी के साथ भिंडी में कैरोटीन, फोलिक एसिड, थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन-सी, अमीनो एसिड और पॉलीफेनोलिक तत्व भी पाए जाते हैं। इसके अलावा भिंडी में कार्डियोप्रोटेक्टिव, रीनल प्रोटेक्टिव, न्यूरोप्रोटेक्टिव, एंटी-कैंसर, एनाल्जेसिक, एंटी-अल्सर, एंटी-बैक्टीरियल और एंटीफेटिग गुण भी मौजूद होते हैं। ऐसे में आप भिंडी के जूस और पानी के रूप में सेवन कर सकते हैं।

भिंडी का जूस: इसके लिए भिंडी को धोकर अच्छी तरह साफ कर लें। इसके बाद भिंडी के पिछले हिस्से को काटकर पानी में डालकर ग्राइंड कर लें। आप चाहें तो इसमें नमक भी डाल सकते हैं। इस तरह भिंडी को अपनी डाइट में करें शामिल

भिंडी के पानी के फायदे:

-दिल को रखे दुरुस्त: भिंडी के पानी में विटामिन-के और फाइबर की अच्छी-खासी मात्रा मौजूद होती है। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम कर दिल को स्वस्थ रखने में कारगर है। इसके साथ ही भिंडी के पानी का नियमित तौर पर सेवन करने से हार्ट अटैक का खतरा भी बेहद ही कम होता है।

-इम्युनिटी को करे बूस्ट: भिंडी का पानी आपको किसी भी तरह के संक्रमण से बचाता है। यह मौसम बदलने के साथ ही होने वाले बुखार, खांसी और सर्दी से भी सुरक्षित रखता है। ऐसे में आपको नियमित तौर पर भिंडी के पानी का सेवन करना चाहिए।

-पाचन को रखे दुरुस्त: भिंडी में मौजूद औषधीय गुण पाचनतंत्र को सुधारने में भी कारगर है। इसमें फाइबर की उच्च मात्रा होती है, जो पाचन से जुड़ी समस्याओं को दूर करती है।

भिंडी के पानी के नुकसान:

-किडनी स्टोन: जिन लोगों को पथरी की शिकायत है, उन्हें भूलकर भी भिंडी के पानी का सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि, इसमें ऑक्सालेट्स कंपाउंड होते हैं, जो पथरी के दर्द को बढ़ा सकते हैं।

-घाव: भिंडी में प्रोटियोलिटिक नाम के एंजाइम मौजूद होते हैं, इससे त्वचा पर घाव हो सकते हैं। ऐसे में आपको ज्यादा भिंडी खाने से बचना चाहिए।

Next Stories
1 हल के जरूरी रचनात्मक पहल
2 प्रवासी श्रमिकों के बच्चे, संभाल की दरकार
3 लैंगिक समता को बड़ा आघात
ये पढ़ा क्या?
X