scorecardresearch

Nail Abnormalities: नाखूनों में इस तरह के बदलाव देते हैं बीमारी का संकेत, जानिए लक्षण और बचाव के तरीके

हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक नाखूनों में सफेदी, पीले या नीले पड़ना, उनका आकार बदलना जैसे कुछ लक्षणों पर ध्यान देने की जरूरत है ताकि समय रहते रोगों से बचाव हो सके।

Nail Care | Nail Health | Health Benefits
प्रतीकात्मक तस्वीर (Image: Freepik)

Nail Abnormalities Symptoms: शरीर के बदलते रंग से जैसे कई बीमारियों का पता चलता है, वैसे ही नाखूनों की बदलते रंग से आप बहुत से बीमारियों के संकेत को समझ सकते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की अनुसार हाथों और पैरों में दिखने वाली असामान्यताएं आपकी सेहत के बारे में बहुत कुछ बता सकती हैं। यह अक्सर नाखूनों के फंगल इन्फेक्शन और चोट के संकेत होते हैं, लेकिन कभी-कभी ये किसी गंभीर स्थिति (underlying condition) के बारे में भी बता सकते हैं।

आपको बता दें कि शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने पर शरीर में कई तरह के बदलाव दिखते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि नाखूनों पर भी इसका असर पड़ता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक नाखूनों के रंग से कई बार बड़ी बीमारियों की जानकारी मिलती है। वेबएमडीकी खबर के मुताबिक नाखूनों में बदलाव दिखें तो सतर्क हो जाना चाहिए क्योंकि नाखूनों के रंग में बदलाव खराब सेहत की निशानी है। आइए जानते हैं कि आखिर ये क्या बदलाव हैं-

नाखूनों का पीला होना: हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक यदि किसी व्यक्ति का नाखून पीला होने लगे तो इसका संकेत शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ने का है। दरअसल, इससे पचा चलता है कि आपका ब्लड सर्कुलेशन ठीक से नहीं हो रहा है, जिसके चलते नाखूनों में दरार भी पड़ने लग जाती है और इसका विकास भी रूक जाता है। कुछ मामलों में पीले नाखून थॉयरॉयड, लंग्स और डायबिटीज के संकेत हो सकते हैं।

हरे और काले रंग के नाखून: नाखूनों का हरा और काला होना उनमें स्यूडोमोनास(pseudomonas) नामक बैक्टीरिया की बहुत मात्रा में बढ़ने की वजह से होता है। इसका इलाज नाखूनों के तह में आंखों की एंटीबायोटिक दवा लगाकर और प्रभावित नाखूनों को एंटीसेप्टिक सोल्यूशन (antiseptic solution) या सिरके में डुबोकर किया जा सकता है।

सफेद और मुरझाया हुआ नाखून: हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक अगर नाखून सफेद पड़ने लगे, तो समझिए हेपटाइटिस या लीवर की बीमारी होने वाली है। वहीं यही नाखूनों का रंग फीका पड़ जाए या मुरझा गया हो, तो यह एनिमिया, हार्ट फेल्योर, लीवर डिजीज और कुपोषण के संकेत हो सकते हैं।

हल्का नीला और गुलाबी नाखून: यदि आपके नाखूनों का रंग हल्का नीला या गुलाबी दिख रहा है तो इसका मतलब है कि शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन की प्राप्ति नहीं हो रही है। यह लंग्स और हार्ट प्रोब्लम की ओर इशारा कर रहा होता है। साथ ही गुलाबी रंग किसी गंभीर बीमारी, हृदय रोग, गंभीर इंफेक्शन आदि का संकेत देता है।

नाखून में धारियां और मोटे नाखून: नाखूनों में धारियों का होना मतलब यह विटामिन-बी, बी-12, जिंक की कमी कमी का दर्शाता है। वहीं अगर नाखून की थिकनेस आसामान्य रूप से बढ़ने लगे या उनकी परत मोटी होने लगे, तो यह डायबिटीज, फेफड़ें में इंफेक्शन और ऑर्थराइटिस के संकेत हो सकते हैं।

बचाव के तरीके: सबसे पहले तो आपको अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव करने की जरूरत है, इस दौरान खान-पान में हरी सब्जियों को जरूर खाना होगा। यदि नाखूनों का रंग बदलने लगे या कोई अन्य परिवर्तन दिखाई पड़े तो सबसे पहले अपने चिकित्सक से संपर्क करें। इसके अलावा रोजाना ज्यादा से ज्यादा फलों को खाएं, इससे भी बॉड़ी में कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहेगा। साथ ही रोज एक्सरसाइज की आदत बनाएं। इससे भी आपका शरीर फिट रहेगा।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट