ताज़ा खबर
 

High Grade Cancer: ‘हाई ग्रेड कैंसर’ से जूझ रही हैं एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे, जानिए क्‍या है ये बीमारी और कैसे चलता है पता

Sonali Bendre, Metastatic Cancer, High Grade Cancer Meaning in Hindi: बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे हाई ग्रेड कैंसर से पीड़ित हैं। आज दोपहर उन्होंने ट्विटर पर इस बात की जानकारी दी।

Sonali Bendre, Metastatic Cancer, High Grade Cancer Meaning in Hindi: सोनाली को हाई ग्रेड कैंसर के बारे में उस वक्त मालूम हुआ जब उन्होंने कुछ टेस्ट कराए।

Sonali Bendre, Metastatic Cancer, High Grade Cancer Meaning in Hindi: बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाली बेंद्रे हाई ग्रेड कैंसर से पीड़ित हैं। आज दोपहर  उन्होंने ट्विटर पर इस बात की जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट करते हुए बताया कि इस बीमारी से लड़ने के लिए वो सभी जरूरी कोशिश कर रही हैं और डॉक्टरों की सलाह ले रही हैं। फिलहाल वह ट्रीटमेंट के लिए न्यूयॉर्क गई हुईं हैं। उनके साथ दोस्त और रिश्तेदार भी मौजूद हैं। इस मुश्किल घड़ी में उनके साथ मौजूद रिश्तेदारों और परिवारवालों के बारे में सोनाली ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘इस घड़ी में मेरा परिवार और मेरे दोस्त मेरे साथ हैं और हर संभव तरीके से मेरा साथ दे रहे हैं। मैं उन सभी की शुक्रगुजार हूं और खुद को भाग्यशाली महसूस कर रही हूं।’

दरअसल, सोनाली कुछ समय पहले से सेहत को लेकर तकलीफें महसूस कर रही थीं, उसके बाद उन्होंने कुछ टेस्ट कराए और हाई ग्रेड कैंसर की शिकायत के बारे में पता चला। आइए जानते हैं क्या है हाई ग्रेड कैंसर।

हाई ग्रेड कैंसर क्या है?

हाई ग्रेड कैंसर एक ऐसी बीमारी होती है जिसमें चार स्टेज होती है। इस बीमारी में चौथी स्टेज को बेहद खतरनाक माना जाता है। ट्यूमर से जुड़ी विस्तृत जानकारी देने वाले समूह वेबएमडी के मुताबिक, अधिकांश कैंसर के लिए, चरण I से IV होते हैं जिसमें चौथी स्टेज ज्यादा खतरनाक होती है। कैंसर की स्टेज को ए और बी के जरिए बांटकर देखा जाता है। हाई ग्रेड कैंसर में कोशिकाएं सामान्य कोशिकाओं से अलग दिखाई देती हैं। यह एक ऐसी बीमारी है जिसका असर तेजी से बढ़ता है। लो ग्रेड कैंसर की तुलना में हाई ग्रेड कैंसर का उपचार अलग-अलग तरीकों से किया जाता है। जबकि लो ग्रेड कैंसर में, कैंसर कोशिकाएं सामान्य ऊतक की तरह दिखती हैं।

हाई ग्रेड कैंसर की स्टेज

– 0 स्टेज: इस स्थिति में कोशिकाएं सामान्य स्थिति में नजर आती है, जिसका मतलब है कैंसर नहीं है।
– पहली स्टेज: पहली स्टेज में कैंसर छोटा और एक जगह होता है। इस स्टेज को कैंसर की शुरुआती स्टेज भी कहा जाता है।
– दूसरी और तीसरी स्टेज: इस स्थिति में कैंसर बड़ा होने लगता है, जो ऊतकों या लिम्फ नोड्स में फैलने लगता है।
– चौथी स्टेज: यह कैंसर की सबसे खतरनाक स्टेज होती है। इस स्टेज में कैंसर शरीर के बाकी अंगों में फैल जाता है। इसे एडवांस या मेटास्टैटिक कैंसर भी कहा जाता है।

अमेरिकन कैंसर सोसाइटी के मुताबिक, स्टेजिंग यह पता लगाने की प्रक्रिया है कि किसी व्यक्ति के शरीर में कैंसर कितना फैल रहा है और कहां-कहां फैल रहा है। इस तरह डॉक्टर एक व्यक्ति के कैंसर के चरण को निर्धारित करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App