ताज़ा खबर
 

थायरॉयड के कारण महिलाओं में समय से पहले आते हैं मेनोपॉज के लक्षण, जानें शरीर में और क्या होते हैं बदलाव

Thyroid affects on body: कई महिलाओं में कम उम्र में ही पीरियड्स बंद होने का एक कारण थायरॉयड को भी माना जाता है, जबकि कुछ महिलाएं मेनोपॉज के बाद इस गंभीर बीमारी से ग्रस्त हो जाती हैं

thyroid disease, thyroid symptoms, thyroid initial symptoms, symptoms of thyroid, hypothyroid symptoms, hyperthyroidism symptoms, thyroid affects on body, thyroid symptoms in women, thyroid and early menopause, thyroid after menopause, irregular periods, thyroid diet, thyroid treatment, thyroid foods, food to avoid during thyroid, thyroid patients diet, healthy thyroid, how to maintain a healthy thyroid, health tips in hindi, home remedies, health news in hindi, healthy lifestyle news in hindi, natural remedies, hyper thyroid, what is hyper thyroid, what is hypo thyroid, thyroid home remedies, thyroid natural remedies, tips for thyroid patients, hyper thyroid symptoms, exercise for hyper thyroid, thyroid, thyroid causes, thyroid precautions, thyroid treatment, thyroid medicine, thyroid treatment in hindi, thyroid types, thyroid types in hindi, thyroid risk factors, thyroid in women, tips for thyroid patients, health, health news, health update, exercise for thyroidवैसी महिलाएं जो पहले से ही थायरॉयड से पीड़ित हैं, उनमें मेनोपॉज जल्दी होने का खतरा अधिक रहता है

Thyroid Symptoms: खराब जीवन-शैली और अनहेल्दी खानपान के कारण कई लोग  थायरॉयड की बीमारी से ग्रस्त हो रहे हैं। थायरॉयड ग्लैंड गर्दन में एडम्स ऐप्पल के पास होती है, जिसका आकार तितली के सामान होता है। इस ग्लैंड से थायरॉक्सिन नामक हार्मोन निकलता है जिससे शरीर की एक्टिविटीज को सुचारू रूप से चलाने में मदद मिलती है। पर अगर किसी व्यक्ति में थायरॉइड ग्लैंड ज्यादा या कम मात्रा में ये हार्मोन पैदा करने लगता है तो उस स्थिति को थायरॉइड कहते हैं। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में ये बीमारी अधिक देखने को मिलती है। थायरॉयड के मरीजों के शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं जिनमें समय से पहले मेनोपॉज होना भी शामिल है।

समय से पहले मेनोपॉज: आम तौर पर 45 से 55 साल की उम्र में महिलाओं को मेनोपॉज यानि कि पीरियड्स बंद हो जाते हैं। लेकिन द इंस्टिट्यूट फॉर सोशल एंड इकोनॉमिक चेंज की एक सर्वे के अनुसार करीब 4 फीसदी महिलाओं में मेनोपॉज 29 से 34 साल की उम्र में ही हो जाता है। वहीं, 35 से 39 आयुवर्ग की महिलाओं में पीरियड्स होने का आंकड़ा 8 प्रतिशत है। कई महिलाओं में कम उम्र में ही पीरियड्स बंद होने का एक कारण थायरॉयड को भी माना जाता है। वैसी महिलाएं जो पहले से ही थायरॉयड से पीड़ित हैं, उनमें मेनोपॉज जल्दी होने का खतरा अधिक रहता है। वहीं, मेनोपॉज के बाद भी कई महिलाएं इस घातक बीमारी का शिकार बन जाती हैं।

मेटाबॉलिज्म को करता है प्रभावित: हाइपर थायरॉइड की बीमारी में लोगों का मेटाबॉलिज्म बुरी तरह से प्रभावित होता है जिससे कि भोजन को पचने में अधिक समय नहीं लगता। जल्दी भोजन पच जाने के वजह से इस बीमारी के मरीजों को बार-बार भूख लगती है। मेटाबॉलिज्म पर असर पड़ने के कारण कब्ज या फिर पेट खराब की समस्या होना भी थायरॉयड संकेत करता है। इस बीमारी के लक्षण महसूस होने पर आप थाइरॉयड से जुड़े टेस्ट करवा सकते हैं। थायरॉयड स्टिमुलेटिंग हार्मोन टेस्ट (TSH) इस बीमारी को पहचानने के लिए काफी सामान्य टेस्ट है।

नहीं झेल पाते हैं मौसम में बदलाव: अगर ज्यादा गर्मी या ठंड होने पर आपको दिक्कत का सामना करना पड़ता है या फिर बेचैनी बढ़ जाती है तो हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार एक बार थायरॉयड से जुड़े जांच जरूर करवाना चाहिए। इस बीमारी का एक लक्षण ये भी है कि इससे पीड़ित मरीजों को मौसम में बदलाव होने पर कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। हाईपो थॉयरायडिज्म के मरीजों को न तो ज्यादा ठंड बर्दाश्त होती है और न ही अधिक गर्मी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 COVID-19: बोलने में दिक्कत भी कोरोना वायरस का लक्षण, जानिए WHO ने और क्या कहा…
2 COVID-19: कोरोना काल में कौन सा हेल्थ इंश्योरेंस आपके लिए बेहतर? जानिए सबकुछ…
3 महिलाओं से ज्यादा पुरुषों में होता है यूरिक एसिड बढ़ने का खतरा, लाइफस्टाइल में ये करें बदलाव
यह पढ़ा क्या?
X