ताज़ा खबर
 

बकरी के दूध का नियमित सेवन करते थे गांधी जी, इसमें छिपे होते हैं ये खास गुण

दुनिया के कई हिस्सों में आज भी लोग बकरी का दूध पीते हैं। बकरी के दूध के कई फायदे हैं और इसमें कई पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं।

सांकेतिक तस्वीर।

दूध में कैल्शियम और प्रोटीन की प्रचुरता होती है। शारीरीक विकास और हड्डियों की मजबूती के लिए दूध पीना हमेशा फायदेमंद माना जाता है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी भी दूध का सेवन नियमित तौर से करते थे। कहा जाता है कि महात्मा गांधी गाय या भैंस का नहीं बल्कि बकरी का दूध पीया करते थे। गांधी जी हमेशा शुद्ध शाकाहारी खाना पसंद करते थे। शायद बापू के फिट और स्वस्थ रहने की एक बड़ी वजह उनका संतुलित आहार भी था। दुनिया के कई हिस्सों में आज भी लोग बकरी का दूध पीते हैं। बकरी के दूध के कई फायदे हैं और इसमें कई पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं।

विटामिन से भरपूर है दूध: बकरी के दूध में कैल्शियम, प्रोटीन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, विटामीन ए, बी2, सी और डी की प्रचुरता होती है।

हार्ट के लिए फायदेमंद: बकरी के दूध में मैग्नीशियम होता है। मैग्नीशियम एक ऐसा पोषक तत्व है जो हार्टबीट को सुचारू बनाए रखने में काफी फायदेमंद होता है। यह खून के थक्कों को जमने से रोकता है। इससे कॉलेस्ट्रॉल का खतरा काफी कम हो जाता है। इससे शरीर को काफी ऊर्जा भी मिलती है।

मोटापा बढ़ने से रोकना: बकरी के दूध में मिलने वाला तत्व शरीर के वजन को बढ़ने से रोकता है। दूध में प्रोटीन और कैल्शियम काफी मात्रा में होता है। यह दोनों पौष्टिक तत्व वजन कम करने में काफी सहायक होते हैं। प्रोटीन मेटाबोलिजम बढ़ाने में सहायक होता है।

पचने में आसान: बकरी के दूध में फैट गाय की दूध की अपेक्षा कम होता है। फैट की मात्रा कम होने से यह दूध सुपाच्य माना जाता है।

एनीमिया से बचाव: बकरी का दूध एनीमिया को रोकने में भी सहायक होता है। इस दूध में आयरन की प्रचुरता पाई जाती है।

इन सभी लाभकारी गुणों के अलावा कई एक्सपर्ट्स का मानना है कि बकरी के दूध में oligosaccharides पाया जाता है। यह सूजन को रोकने में सहायक होता है। इस दूध के सेवन से पेट में दर्द या फिर पाचन क्रिया के खराब होने की शिकायत भी नहीं होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App