ताज़ा खबर
 

Maha Shivratri 2018: जानिए व्रत रखने से आपकी सेहत पर क्या पड़ता है असर, क्या खाएं और क्या नहीं

Mahashivratri, Maha Shivratri 2018 Vrat Puja Vidhi: उपवास रखने वाले लोगों को सिंपल फूड्स का सेवन करना चाहिए। फ्रूट्स और नट्स का सेवन करने के साथ साथ खूब पानी पीना चाहिए।

प्रतीकात्मक चित्र

महाशिवरात्रि भगवान शिव की अराधना का पर्व है। हिंदू पंचांग के मुताबिक हर महीने में शिवरात्रि होती है लेकिन महाशिवरात्रि साल में सिर्फ एक बार आता है। इस दिन बहुत से लोग व्रत भी रखते हैं। व्रत रखने को अक्सर मोटापा कम करने से जोड़कर देखा जाता है। तमाम लोग ऐसा मानते हैं कि उपवास रखने से वजन कम करने में मदद मिलती है। व्रत भी कई तरह के होते हैं। जैसे- कुछ उपवास ऐसे होते हैं जिनमें भोजन न लेने के साथ पानी भी नहीं पीते। कुछ उपवासों में पानी, फलाहार तो ले सकते हैं लेकिन नमक और अनाज का इस्तेमाल वर्जित होता है। इन अलग-अलग उपवासों के सेहत पर अलग-अलग प्रभाव होते हैं। आज हम न्यूट्रिशनिस्ट के हवाले से यह जानने की कोशिश करेंगे कि उपवास का हमारी सेहत पर क्या प्रभाव पड़ता है।

दिल्ली की न्यूट्रिशनिस्ट पूजा मल्होत्रा अंग्रेजी वेबसाइट डॉक्टर एनडीटीवी को बताती हैं कि बहुत से लोग व्रत में प्रोसेस्ड और पैकेज्ड फूड्स खाते हैं, जिनमें नमक होता है। लेकिन व्रत में घर का बना खाना और फ्रूट्स खाना ज्यादा फायदेमंद होता है। यह शरीर को डिटॉक्स करने में मददगार होता है। पूजा बताती हैं कि दिन भर उपवास रखने के बाद लोग अलग-अलग तरह के रिएक्शन्स देते हैं। बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो दिन भर उपवास रखने के बाद सिरदर्द, गैस और एसिडिटी की समस्या महसूस करते हैं।

उपवास में क्या न खाएं – पूजा के मुताबिक व्रत में आपको कैफीन वाले पदार्थों से परहेज करना चाहिए। यह एसिडिटी की वजह बन सकता है। उपवास रखने वाले लोगों को सिंपल फूड्स का सेवन करना चाहिए। फ्रूट्स और नट्स का सेवन करने के साथ साथ खूब पानी पीना चाहिए। उपवास के बाद ज्यादा खाना खाने से भी परहेज करना चाहिए। इससे मोटापे की समस्या हो सकती है।

वजन कम करता है उपवास?

न्यूट्रिशनिस्ट पूजा बताती हैं कि उपवास से वजन कम किया जा सकता है। उनका कहना है कि अगर आप दिनभर में सिर्फ एक बार खाना खाते हैं और बाकी का वक्त सिर्फ फल, सलाद, दूध और नट्स खाकर गुजारते हैं तो यह निश्चित रूप से आपका वजन कम करने में मददगार हो सकता है।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App