ताज़ा खबर
 

बार-बार वापस आ जाते हैं होंठ के छाले तो हो जाएं सतर्क, लिप कैंसर का हो सकता है लक्षण- जानें क्या हैं बचाव के तरीके

Lip Cancer Symptoms: इस तरह के कैंसर के मरीजों के दांत ढ़ीले होने लगते हैं और उनकी आवाज में भी बदलाव आ जाता है

cancer risk, lip cancer, lip ulcer in people, cancer prevention, tips for cancer patientsलिप कैंसर लोगों के मुंह में मौजूद अब्नॉर्मल सेल्स से बनते हैं, इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं

Lip Cancer Risk: तीखा, मसालेदार व तला-भुना ज्यादा खाने से कई बार मुंह में छाले हो जाते हैं। जब खाने में परेशानी होती है तो लोगों को ध्यान इस ओर जाता है। इसके अलावा, जो लोग कम पानी पीते हैं या फिर कब्ज से पीड़ित होते हैं, उन्हें भी कई बार इस परेशानी से जूझना पड़ता है। आमतौर पर ये छाले या तो खुद चले जाते हैं या फिर किसी दवाई के इस्तेमाल से ठीक हो जाते हैं। हालांकि, बेहद आम दिखने वाली ये समस्या कई बार गंभीर भी हो सकती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि अगर आपको बार-बार में मुंह में छाले हो जाते हैं तो ये होंठ के कैंसर का भी संकेत हो सकता है। ऐसे में इसे नज़रअंदाज करने पर ये जानलेवा भी साबित हो सकता है। पर नॉर्मल छाले और कैंसरस छालों में उसके लक्षणों को देखकर अंतर किया जा सकता है। आइए जानते हैं-

लिप कैंसर के लक्षण: अगर मुंह में बार-बार छाले हो जाते हैं और जल्दी ठीक नहीं होते तो ये चिंता की बात हो सकती है। इसके अलावा, अगर आपके मुंह में कोई घाव या गांठ जैसा महसूस हो तो भी डॉक्टर को दिखाना जरूरी है। लिप कैंसर होने पर कई लोगों को निचले होंठ में खून निकलने की भी शिकायत होती है। लिप्स के ऊपर यदि आपको सफेद या लाल चकते पड़ते हैं तो इस स्थिति में बिना देर किये डॉक्टर को दिखाएं। होंठ में सूजन और दर्द के साथ ही गले और मुंह में दर्द भी लिप कैंसर का एक लक्षण हो सकता है। इसके अलावा, इस तरह के कैंसर के मरीजों के दांत ढ़ीले होने लगते हैं और उनकी आवाज में भी बदलाव आ जाता है।

क्या हैं कारण: लिप कैंसर लोगों के मुंह में मौजूद अब्नॉर्मल सेल्स से बनते हैं। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं जिनमें धूम्रपान, व शराब का अत्यधिक सेवन प्रमुख हैं। इसके अलावा, सूरज की किरणों के सामने ज्यादा देर तक रहने से भी होंठ का कैंसर हो सकता है। तंबाकू और गुटखा खाने वाले लोग भी इस तरह के कैंसर का शिकार आसानी से हो सकते हैं। पाइप से धूम्रपान जैसे हुक्‍का आदि पीने वालों का यह समस्‍या ज्‍यादा होती है। इसके अलावा, कई बार ये बीमारी सूर्य की हानिकारक किरणों से होने वाली टैनिंग के कारण भी होती है।

ऐसे करें बचाव: कैंसर किसी भी प्रकार का हो, उससे खुद को बचाकर रखना बहुत ही जरूरी है। शुरुआती चरणों में  अगर इस बीमारी का पता न चले तो ये शरीर को काफी क्षति पहुंचा देता है। कैंसर का इलाज खर्चीला होने के साथ ही कष्टदायक भी होता है, ऐसे में इससे बचाव ही सबसे बेहतर उपाय है। इसके लिए जरूरी है कि आप सिगरेट, शराब, तंबाकू, गुटखा का सेवन पूरी तरह बंद कर दें। साथ ही, कोशिश करें कि सुबह के बाद की धूप में ज्यादा निकलने की जरूरत न पड़े। फिजिकल एक्टिविटी को तवज्जो दें और हेल्दी डाइट लें जिसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में मौजूद हो।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इम्युनिटी बढ़ाने की हर कोशिश हो रही है बेकार तो ट्राय करें ये योगासन, ऐसे मिलेगा फायदा
2 मेनोपॉज के बाद महिलाओं में बढ़ जाता है दिल की बीमारियों का खतरा, इन बातों का रखें खास ख्याल
3 Diabetes के मरीज़ रोज़ाना सुबह खाली पेट पिये मेथी का पानी, जानिए और कैसे करें डाइट में शामिल