ताज़ा खबर
 

Lata Mangeshkar Health Update: लता मंगेशकर अभी भी मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में, जानिए किस बीमारी से हुईं थीं एडमिट

Lata Mangeshkar Health Update Latest News: सीने में इंफेक्शन होने के कारण लता मंगेशकर को सांस लेने में समस्या होने लगी जिसके कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था। आइए जानते हैं चेस्ट इंफेक्शन या ब्रोंकाइटिस या निमोनिया कितना खतरनाक होता है और इससे कैसे बचा जा सकता है...

लता मंगेशकर (Source: Social Media)

Lata Mangeshkar Health Update, Chest Infection, Bronchitis or Pneumonia: बॉलीवुड की लेजेंट सिंगर लता मंगेशकर अभी भी मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में भर्ती हैं। हालांकि अब उनकी सेहत में काफी सुधार है लेकिन अधिक उम्र के कारण पूरी तरह स्वस्थ होने में अभी वक्त लगेगा। ऐहतियातन उन्हें अस्पताल में ही रखा गया है। हालांकि परिवार के करीबियों ने यही खबर दी है कि दीदी की सेहत में अब तेजी से सुधार हो रहा है। दीदी को चाहने वाले बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं कि वह कब हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होकर घर वापस आती हैं। आपको बता दें कि लता जी को चेस्ट इंफेक्शन और निमोनिया की शिकायत के बाद सांस लेने में दिक्कत हुई थी और इसके बाद ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। तो आइए जानते हैं कि चेस्ट इंफेक्शन या ब्रोंकाइटिस या निमोनिया कितना खतरनाक होता है और इससे कैसे बचा जा सकता है…

क्या होता है चेस्ट इंफेक्शन? (Chest Infection, Bronchitis or Pneumonia)

छाती का संक्रमण एक प्रकार का श्वसन संक्रमण है जो आपके श्वसन मार्ग के निचले हिस्से को प्रभावित करता है। आपके निचले श्वसन पथ में आपकी विंडपाइप, ब्रांकाई और लंग्स शामिल हैं। दो सबसे आम प्रकार के छाती में संक्रमण ब्रोंकाइटिस और निमोनिया हैं। सीने में संक्रमण हल्के से लेकर गंभीर तक कहीं भी हो सकता है।

छाती में संक्रमण के लक्षण क्या हैं?
– छाती में कफ हो जाना
– घरघराहट
– पीली या हरी बलगम वाली खांसी
– सांस लेने में तकलीफ होना
– सीने में बेचैनी होना
– बुखार
– सिरदर्द
– मांसपेशियों में दर्द और सूजन
– थकान महसूस करना

छाती में संक्रमण का कारण क्या है? छाती का संक्रमण बैक्टीरिया या वायरल संक्रमण के कारण हो सकता है। सटीक कारण संक्रमण के प्रकार पर निर्भर करता है। उदाहरण के लिए, ब्रोंकाइटिस अक्सर एक वायरस के कारण होता है, जबकि निमोनिया के अधिकांश मामले मूल रूप से बैक्टीरिया होते हैं। छाती में इंफेक्शन होने से खांसी या छींक की संभावना बढ़ जाती है।

छाती में संक्रमण के घरेलू उपचार:
– जितना हो उतना आराम करें।
– अधिक से अधिक पानी या लिक्विड डाइट लें।
– स्टिम वेपर लें।
– धूम्रपान छोड़ दें।
– खांसी की दवाइयों से दूर रहें। खांसी वास्तव में आपके फेफड़ों से बलगम को साफ करने के माध्यम से आपके संक्रमण को खत्म करने में मदद करती है।

(और Health News पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Health News: मेथी कोलेस्ट्रॉल को करती है कंट्रोल, जानिए इसके और स्वास्थ्य लाभ
2 Weight Loss Breakfast Ideas: वजन कंट्रोल करना है तो नाश्ते में क्या लें क्या ना लें
3 Google & Alphabet के सीईओ Sundar Pichai हैं वेजिटेरियन, जानिए उनका डाइट और वर्कआउट
ये पढ़ा क्या?
X