scorecardresearch

Langya Henipavirus: चीन में मिला एक और नया वायरस, इन लक्षणों से करें लैंग्या हेनिपावायरस की पहचान

चीन के कुछ हिस्सों में लैंग्या हेनिपावायरस के 35 नए मामले सामने आए हैं। ये वायरस पहली बार 2018 में शेडोंग और हेनान के पूर्वोत्तर प्रांतों में पाया गया था।

Langya Henipavirus: चीन में मिला एक और नया वायरस, इन लक्षणों से करें लैंग्या हेनिपावायरस की पहचान
लैंग्या हेनिपावायरस: हेनिपावायरस से संक्रामित इंसान में बुखार, थकान, खांसी और मितली जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं। photo-freepik

Langya Henipavirus in China News In Hindi: पिछले तीन सालो से कोरोना वायरस लोगों को डरा रहा है।उसके साथ ही कुछ और नए वायरस भी लोगों को अपनी चपेट में ले रहे हैं। कोविड-19, वाइट फंगस, मंकीपॉक्स और अब लैंग्या वायरस लोगों के लिए परेशानी का सबब बनते जा रहे हैं। चीन के वुहान शहर से जन्मे कोरोनावायरस ने सारी दुनिया को परेशान किया हुआ है अब चीन में एक और नए वायरस ने दस्तक दे दी है।

चीन के कुछ हिस्सों में लैंग्या हेनिपावायरस के 35 नए मामले सामने आए हैं। लैंग्या हेनिपावायरस पहली बार 2018 में शेडोंग और हेनान के पूर्वोत्तर प्रांतों में पाया गया था। आधिकारिक तौर पर इस वायरस की पुष्टि पिछले सप्ताह के अंत में हुई है। ये नया वायरस जानवरों से इंसानों में फैलता है।

न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक ये वायरस अब तक चीन और सिंगापुर में 35 लोगों को संक्रमित कर चुका है। आइए जानते हैं कि इस वायरस के मुख्य लक्षण कौन-कौन से हैं और उनकी पहचान कैसे करें।

क्या है लैंग्या वायरस?

ये नए प्रकार का वायरस जानवरों से इंसानों में फैलता है, जिसे लैंग्या हेनिपावायरस लेवी भी कहा जाता है। ये नया वायरस इंसानों को भी संक्रामित कर सकता है। न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन (NEJM)में प्रकाशित शोध के मुताबिक ये वायरस अब तक 35 लोगों को संक्रमित कर चुका है। रिपोर्ट के मुताबिक ये वायरस पूर्वी चीन में जिन लोगों को बुखार था उन रोगियों के गले से लिए गए सैंपल में पाया गया है।

हेनिपावायरस से संक्रमित होने पर बॉडी में दिखने वाले लक्षण: Know About Langya Henipavirus Symptoms

हेनिपावायरस जानवरों से आता है। इस वायरस से संक्रामित इंसान में बुखार, थकान, खांसी और मितली जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं। हेनिपावायरस संक्रमण के 35 मरीजों में से 26 मरीजों ने बुखार के साथ ही खांसी, मितली, सिर दर्द और उल्टी जैसे लक्षणों को बताया है। फिल्हाल इस बीमारी का उपचार करने के लिए कोई वैक्सीन नहीं है। एक्सपर्ट के मुताबिक फिल्हाल इस बीमारी से घबराने की जरूरत नहीं है। इस बीमारी से बचाव करने के लिए लोगों से दूर रहें।

हेनिपावायरस की पहचान कैसे करे:

रिपोर्टों से संकेत मिला है कि जिन लोगों में हेनिपावायरस की पहचान हुई है वो मुख्य रूप से किसान हैं। इन रोगियों ने थकान, खांसी, भूख न लगना और दर्द जैसे लक्षणों की सूचना दी है। कुछ रोगियों में लीवर और किडनी खराब होने के भी संकेत मिले हैं।

द गार्जियन के अनुसार, 2 प्रतिशत घरेलू बकरियों और 5 प्रतिशत कुत्तों में इस वायरस का पता चला था। आप भी इस वायरस की चपेट में आने से बचना चाहते हैं तो बकरियों और कुत्तों से दूरी बनाकर रहें।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.