Know why the migraine problem, its symptoms and effective remedies for treatment - खतरनाक है माइग्रेन की समस्या, जानिए कारण, लक्षण और उपचार के कारगर उपाय - Jansatta
ताज़ा खबर
 

खतरनाक है माइग्रेन की समस्या, जानिए कारण, लक्षण और उपचार के कारगर उपाय

माइग्रेन की समस्या के कई कारण हो सकते हैं जैसे- तेज धूप से, डस्ट, खास फूड खाने से, चॉकलेट या चीज खाने से भी हो सकता है। इसके अलावा शरीर में पानी की कमी के चलते भी माइग्रेन की समस्या हो सकती है।

महिलाओं में माइग्रेन की समस्या का एक कारण पीरियड्स भी होते हैं।

ऐसे बहुत से लोग हैं जो माइग्रेन की समस्या से जूझ रहे हैं। माइग्रेन के कारण सिर में भयानक दर्द होता है। माइग्रेन ब्रेन के अंदर केमिकल बदलाव की वजह से होता है। इसके कई कारण हो सकते हैं। किसी में यह चेंज धूप से, तो किसी में डस्ट, खास फूड खाने से, चॉकलेट या चीज खाने से भी हो सकता है। इसके अलावा शरीर में पानी की कमी के चलते भी माइग्रेन की समस्या हो सकती है। इस समस्या में ब्रेन के अंदर का स्पेसिफिक न्यूरो ट्रांसमीटर चेंज हो जाता है, जिसे माइग्रेन ट्रिगर कहते हैं। आइए आज हम आपको माइग्रेन की समस्या के कारण, लक्षण और उपचार के तरीकों के बारे बताते हैं।

माइग्रेन के लक्षण-

– सामान्य सिरदर्द से अधिक और अलग होना।
– सूरज की किरणों के परवर्तित होने जैसी चमक दिखाई देना।
– कुछ समय के लिए नजर कमजोर होना और चीजें धुंधली दिखाई देना।
– शरीर का एक हिस्सा सुन्न महसूस होना।

माइग्रेन के कारण-

तनाव या गुस्सा: जो लोग अधिक समय तक डिप्रेशन में रहते हैं या जिन्हें गुस्सा जल्दी आता है। ऐसे लोगों को माइग्रेन की समस्या का खतरा अधिक होता है।

पीरियड्स: महिलाओं में माइग्रेन की समस्या का एक कारण पीरियड्स भी होते हैं। पीरियड्स के दौरान हार्मोन में होने वाले उतार-चढ़ाव की वजह से माइग्रेन की बीमारी होने का खतरा होता है।

जेनेटिक संरचना: माइग्रेन के करीब 50 प्रतिशत से ज्यादा मामले जेनेटिक संरचना की वजह से भी सामने आते हैं।

मिर्गी: जिन लोगों को मिर्गी की समस्या होती है उन्हें माइग्रेन की बीमारी का खतरा अधिक होता है।

नींद: इसके अलावा जिन लोगों को नींद से जुड़ी समस्या होती है या जरूर के हिसाब से नींद नहीं ले पाते उन्हें भी माइग्रेन की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

 

 

माइग्रेन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये उपाय

शराब एवोइड करें- एल्कोहॉल लेने से आपको अचानक सिर में दर्द होने की समस्या हो सकती है ऐसे में इसे न लेना ही बेहतर विकल्प है। वहीं अगर आप एल्कोहॉल ले रहे हैं तो ध्यान रहें आप उसे कम मात्रा में ले।

अच्छी नींद लें- एक्सपर्ट्स का मानना है कि माइग्रेन की समस्या उन लोगों को ज्यादा होती है जो सही नींद नहीं लेते। पर्याप्त नींद लेकर आप अपनी माइग्रेन अटैक से बच सकते हैं।

स्ट्रेस न लें- स्ट्रेस माइग्रेन के प्रमुख कारणों में से एक है। ऐसे में आप तनाव लेने का रिस्क नहीं ले सकते। अपना लाइफस्टाइल बेहतर बनाकर आप तनाव से दूर रहने की कोशिश करें। वहीं सकारात्मक बने रहें और ऐसी गतिविधियों में खुद को व्यस्त रखने की कोशिश करें जिनसे आपका तनाव कम हो। उदाहरण के लिए म्यूजिक सीखें या अपने मनपसंद खेल खेले।

हर्बल सप्लीमेंट्स- अपने डॉक्टर से सलाह लेकर इनका इस्तेमाल करें। हर्बल न्यूट्रिशन सप्लीमेंट्स माइग्रेन का ट्रीटमेंट करने में कारगर साबित हो सकते हैं।

लाइफस्टाइल- कोशिश करें की आप एक बेहतर लाइफस्टाइल अपनाएं। अपने कामों को टाइम से मैनेज करें। उदाहरण के लिए ऑफिस अगर समय से जा रहे हैं तो समय से वापिस घर लौटें। ऑफिस के काम घर में न ले जाएं और घर पर अपने परिवार के साथ बेहतर समय बिताएं। इसके अलाव हल्की एक्सरसाइज करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App