ताज़ा खबर
 

दिमागी तंदुरुस्ती के लिए असरदार हैं ये 4 टिप्स, खुद आजमा कर देखें फायदा

तेज दिमाग वाले व्यक्ति को अन्य लोगों के मुकाबले प्रतियोगिताओं में आगे बढ़ने का अवसर मिलता है। इतना ही नहीं, ऐसे व्यक्ति ही जीवन में बहुत कुछ हासिल करते हैं।

प्रतीकात्मक तस्वीर

आज का युग सूचना का युग है जहां विचारों, रचनात्मकता और बौद्धिकता का बोलबाला है। ऐसे में तेज दिमाग सिर्फ जरूरत ही नहीं बल्कि अनिवार्यता बन गई है। तेज दिमाग वाले व्यक्ति को अन्य लोगों के मुकाबले प्रतियोगिताओं में आगे बढ़ने का अवसर मिलता है। इतना ही नहीं, ऐसे व्यक्ति ही जीवन में बहुत कुछ हासिल करते हैं। इसलिए तेज दिमाग का होना बहुत जरूरी है। इसके लिए इन 4 उपायों को अपनाया जा सकता है।

किताबें पढ़ना: दिमाग को तेज रखने के लिए किताबें पढ़ना सबसे बेहतर उपाय है। इस कार्य से न केवल व्यक्ति को आनंद प्राप्त होता है बल्कि साथ-साथ ज्ञान के भंडार में भी वृद्धि होती है। अपने विषय के बारे में तो हमें पढ़ना ही चाहिए लेकिन जब भी मौका मिले हमें अपने विषय से अलग पुस्तकें पढ़नी चाहिए। इससे दुनिया को देखने के हमारे नजरिए में भी बदलाव आएगा।

सभी विचारों को न लिखें : पुस्तकों को पढ़ने और लोगों से बातचीत करने के बाद हमारे मन में ढेरों विचार आते हैं। विचारों को आने से कभी नहीं रोकना चाहिए। हालांकि हमें इन विचारों को लिखने से बचना चाहिए। विचारों को लिखने से दिमाग उन्हें याद रखने की जरूरत नहीं समझता है और फिर धीरे-धीरे भूल जाता है। इसलिए कुछ विचारों को बिना लिखे ही रहने देना चाहिए। इससे दिमाग को तेज रहने में मदद मिलेगी।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Ice Blue)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Warm Silver)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback

कौशल या क्राफ्ट सीखें: हर व्यक्ति को अपने कामकाज के अलावा भी जिंदगी में कुछ करने की कोशिश करता है। हर किसी की अपनी होबी होती है। किसी को खाना बनाना तो किसी को पियानो बजाना अच्छा लगता है। हर व्यक्ति को अपने जीवन में कोई न कोई कौशल या क्राफ्ट जरूर सीखना चाहिए। इससे तनाव को दूर करने में मदद मिलती है जो तेज दिमाग के लिए बहुत आवश्यक है। इसलिए जब भी मौका मिलने कोई कौशल या क्राफ्ट जरूर सीखें।

खाना, सोना और व्यायाम: तेज दिमाग के लिए पौष्टिक खाना और अच्छी नींद और उचित व्यायाम बहुत आवश्यक है। हालांकि यह बात जितनी कहनी आसान है, उतना ही कठिन इस पर अमल करना है। आज लोगों की जीवनशैली ऐसी हो गई है कि वे न तो पौष्टिक खाना खाते हैं, न उन्हें अच्छी नींद मिलती है और व्यायाम के लिए तो कोई समय ही नहीं निकाल पाता है। कोशिश करें कि इन बातों को प्रत्येक दिनचर्या में शामिल करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App