ताज़ा खबर
 

डायबिटीज के मरीजों के लिए ओट्स खाना फायदेमंद है या नहीं.. जानिए कई जरूरी बातें

डायबिटीज एक आम बीमारी हो गई है। यह किसी भी उम्र के लोगों को हो सकता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए कई फूड्स होते हैं। उनमें से एक ओट्स हैं। आइए जानते हैं इससे जुड़ी कुछ जरूरी बातें-

Author Updated: December 3, 2019 12:44 PM
डायबिटीज के मरीजों के लिए ओट्स

डायबिटीज एक मेटाबॉलिक कंडिशन है जो शरीर में इंसुलिन का उत्पादन या उपयोग कैसे करें इस बात को प्रभावित करता है। इससे ब्लड शुदर को स्वस्थ श्रेणी में बनाए रखना मुश्किल हो जाता है, जो डायबिटीज वाले लोगों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण होता है। ओट्स कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है और डायबिटीज के रोगियों के लिए यह बहुत अच्छा भोजन हो सकता है। एक कप ओट्स में लगभग 30 ग्राम कार्ब्स होते हैं, जो डायबिटीज वाले लोगों के लिए एक स्वस्थ भोजन योजना में फिट हो सकता है। दलिया में कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, इसलिए यह नाश्ते के विकल्प के लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है, खासतौर पर डायबिटीज के मरीजों के लिए।

डायबिटीज के लिए दलिया के लाभ:
डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए डाइट में ओट्स शामिल करना फायदेमंद होता है-

– यह ब्लड शुगर को रेगुलेट करता है क्योंकि ओट्स में लोअर ग्लाइसेमिक एसिड होता है और फाइबर में नियमित मात्रा में होती है।
– यह हृदय को स्वस्थ रखता है क्योंकि इसमें सॉल्युबल फाइबर मौजूद होता है। साथ ही ओट्स कोलेस्ट्रॉल को भी कम रखता है।
– यह अन्य कार्बोहाइड्रेट युक्त नाश्ते वाले फूड्स के स्थान पर खाने पर इंसुलिन इंजेक्शन की आवश्यकता को कम कर सकता है।
– ओट्स पाचन को बेहतर करता है।
– ओट्स शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है।

डायबिटीज के लिए दलिया क्यों सही नहीं होता है-

– डायबिटीज वाले कई लोगों के लिए ओट्स का सेवन करना बहुत खराब हो सकता है। दलिया खाने से ब्लड शुगर के स्तर में वृद्धि हो सकती है। यदि आप दलिया में अधिक चीनी मिलाकर खाते हैं जो डायबिटीज के मरीजों के लिए नुकसानदायक हो सकता है।
– ओट्स उन लोगों के लिए नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है जिन्हें गैस्ट्रोपेरासिस की समस्या है। जिन लोगों को डायबिटीज और गैस्ट्रोपेरासिस है, उनके लिए ओट्स में मौजूद फाइबर खाली पेट धीमा कर सकता है।

डायबिटीज वाले ओट्स खाने के दौरान क्या करें और क्या नहीं-

क्या करें-
1. दालचीनी, नट्स और बेरीज शामिल करें।
2. लो-फैट मिल्क या पानी मिलाएं।
3. एक्सट्रा प्रोटीन और फ्लेवर के लिए नट बटर शामिल करें।
4. ग्रीक योगर्ट भी मिला सकते हैं ताकि प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन-डी मिल सके।

क्या ना करें-
1. प्रीपैकेज्ड या स्वीटेंड इंस्टेंट ओटमील का इस्तेमाल ना करें।
2. अधिक ड्राई फ्रूट्स या स्वीटनर का इस्तेमाल ना करें। यहां तक की नेचुरल स्वीटनर, शहद भी ना मिलाएं।
3. क्रीम का इस्तेमाल ना करें।

(और Health News पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Health Benefits of Green Chilli: हरी मिर्च वजन कम करने के अलावा और भी कई स्वास्थ्य समस्याओं के लिए होता है फायदेमंद, जानिए कैसे
2 Tulsi For Diabetes: तुलसी पत्ता खाकर करें डायबिटीज कंट्रोल, जानिए आयुर्वेद और व्यायाम के साथ कैसे ब्लड शुगर नियंत्रित होगा
3 Beyhadh 2 एक्ट्रेस जेनिफर विंगेट नहीं हैं जिम पर्सन, जानिए कैसे रखती हैं खुद को फिट
जस्‍ट नाउ
X