ताज़ा खबर
 

अगर आपको भी हैं ये समस्याएं तो ध्यान दें, हो सकते हैं डिप्रेशन के शिकार

आज हम आपको डिप्रेशन के लक्षणों के बारे में बता रहे हैं जिससे कि आप पता कर सकते हैं कि कहीं आप डिप्रेशन का शिकार तो नहीं है?

डिप्रेशन अच्छी सेहत के राह की सबसे बड़ी बाधा है।

डिप्रेशन एक ऐसी बीमारी है जो आपके शरीर के लिए तो बहुत खतरनाक है, लेकिन इसके होने का जल्द पता नहीं चल पाता है। दरअसल कई बीमारियों पर हम ध्यान नहीं देते हैं और इन बीमारियों को हल्के में ले लेते हैं जो कि डिप्रेशन का कारण होती है। आज हम आपको डिप्रेशन के लक्षणों के बारे में बता रहे हैं जिससे कि आप पता कर सकते हैं कि कहीं आप डिप्रेशन का शिकार तो नहीं है?

नींद ना आना- डिप्रेशन होने का सबसे बड़ा संकेत है, नींद ना आना। डिप्रेशन का शिकार होने पर लगातार या गहरी नींद नहीं आती है। इस दौरान कई लोगों को नींद नहीं आती है और कई लोगों की नींद बार-बार खुलती है।

माइग्रेन: जर्नल ऑफ पैन की एक रिपोर्ट के अनुसार माइग्रेन और डिप्रेशन के बीच गहरा संबंध है। इसके अलावा डिप्रेशन होने का अहम लक्षण सिर में दर्द होना भी है। डिप्रेशन से लगातार सिर में दर्द होता रहता है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 32 GB Black
    ₹ 59000 MRP ₹ 59000 -0%
    ₹0 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹0 Cashback

पेट के रोग- डिप्रेशन से पीड़ित होने पर कब्ज या दस्त और पेट फूलने जैसी समस्या हो सकती है। अगर आपको इस तरह की कोई समस्या है और पारंपरिक इलाज के बावजूद सही नहीं हो रही है, तो एक बार डिप्रेशन के डॉक्टर को जरुर दिखाएं।

जोड़ों में दर्द- एक रिपोर्ट के अनुसार लगातार जोड़ों में दर्द रहना और शरीर में दर्द होना भी डिप्रेशन के लक्षण हो सकते हैं। जोड़ों के दर्द से पीड़ित मरीजों को जीवन में गुणवत्ता की कमी की वजह से भी डिप्रेशन हो सकता है।

सीने में दर्द- पिछले कुछ सालों में कई रिपोर्ट्स में सामने आया है कि सीने में दर्द या हृदय रोग भी डिप्रेशन के कारण होते हैं। रिचर्स में ये भी सामने आया कि अधिकतर लोगों को टेंशन की वजह से सीने में दर्द होता है। इसलिए आपको लंबे समय से सिर में दर्द है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह लें।

पीठ में दर्द- डिप्रेशन से ना सिर्फ सिर में दर्द होता है जबकि इससे पीठ में भी दर्द होता है। हालांकि हल्के डिप्रेशन से पीड़ित लोगों को पीठ दर्द का अनुभव नहीं होता है। ऐसा मेजर या क्लिनिकल डिप्रेशन से पीड़ित लोगों के साथ हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App