ताज़ा खबर
 

न्यूट्रिशनल पावरहाउस कही जाती है ग्रीन बीन्स, दिल, त्वचा और आंखों की सेहत के लिए है ‘वरदान’

हरी सेम यानी कि ग्रीन बीन्स उन कुछ चुनिंदा सब्जियों में से एक है जो सबसे ज्यादा पोषण से भरपूर होती हैं और जिन्हें बच्चों को जरूर खाना चाहिए।

Author Published on: December 12, 2017 10:11 PM
हरी सेम में पालक से दोगुना ज्यादा आयरन पाया जाता है।

हरी सेम यानी कि ग्रीन बीन्स उन कुछ चुनिंदा सब्जियों में से एक है जो सबसे ज्यादा पोषण से भरपूर होती हैं और जिन्हें बच्चों को जरूर खाना चाहिए। ये विटामिन ए, सी और के से भरपूर होती हैं तथा इनमें फोलिक एसिड और दिल की सुरक्षा करने वाले कैल्शियम और फाइबर की भी पर्याप्त मात्रा होती है। तो चलिए जानते हैं कि पोषक तत्वों से भरपूर हरी सेम के खाने के क्या-क्या फायदे हैं।

आयरन से भरपूर – हरी सेम में पालक से दोगुना ज्यादा आयरन पाया जाता है। आयरन लाल रक्त कणिकाओं का अहम तत्व होता है जो ऑक्सीजन को फेफड़ों से पूरे शरीर में पहुंचाने का काम करता है। अगर आप एनीमिया से पीड़ित हैं या फिर आपको मेटाबॉलिज्म से संबंधित कोई समस्या है तो आपको हरी सेम का सेवन जरूर करना चाहिए।

त्वचा, बालों और नाखून के लिए – ग्रीन बीन्स में सिलिकॉन काफी मात्रा में पाया जाता है। यह नाखूनों को मजबूत और खूबसूरत बनाने में मदद करता है। इसके अलावा यह स्किन हेल्थ को भी दुरुस्त रखने में मदद करता है। हरी सेम पोषक तत्वों का पावर हाउस होती हैं। स्किन, हेयर्स और नेल्स के लिए इनके विशेष फायदे होते हैं।

हड्डियों की मजबूती के लिए – ‘हीलिंग फूड्स’ नाम की एक किताब में यह बताया गया है कि ग्रीन बीन्स विटामिन के की बेहतरीन स्रोत होती हैं। यह हड्डियों में ओस्टिओकैल्सिन को एक्टिवेट करने का काम करती हैं। यह हड्डियों के अंदर कैल्शियम के कणों को एक साथ बांधे रखती हैं जो उन्हें अंदर से मजबूत बनाता है।

दिल की सेहत के लिए – ग्रीन बीन्स कैल्शियम और फ्लेवोनॉयड्स का भरपूर भंडार होता है। फ्लेवोनॉयड्स एक पॉलीफेनोलिक एंटी-ऑक्सीडेंट होता है जो सामान्यतः केवल फलों और सब्जियों में पाया जाता है। शरीर में इसकी ज्यादा मात्रा में उपस्थिति धमनियों में रक्त का थक्का बनने से रोकती है। जिससे दिल संबंधी बीमारियों का आशंका नहीं रहती।

आंखों की रोशनी बनाए बेहतर – कैरोटिनाइड से भरपूर होने की वजह से यह आंखो से संबंधित एक अहम बीमारी मैक्यूलर डिजनरेशन को रोकने का काम करती है। इसमें पर्याप्त मात्रा में ल्यूटिन और ज़ीएक्सान्थिन भी पाया जाता है जो आंखों की रोशनी बढ़ाने तथा लाइट विजन को बेहतर बनाने में मदद करती हैं।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 इन पांच लक्षणों से लगा सकते हैं साइबर सेक्स एडिक्शन का पता, युवाओं में तेजी से बढ़ रही ये समस्या
2 ऑफिस में खूब चाय पीते हैं तो हो जाइए सतर्क, ‘टी-बैग्स पर होते हैं टॉयलेट सीट से ज्यादा जर्म्स’
3 सही समय पर इलाज से कैंसर को हरा पाए युवराज सिंह, जानें क्या है कैंसर पहचानने और उसे रोकने का तरीका