ताज़ा खबर
 

इन कारणों से हो सकते हैं मुंह में छाले, ध्यान दें!

आज हम आपको बता रहे हैं कि मुंह में छाले किस वजह से होते हैं और कैसे इनसे बचा जा सकता है।

Author December 30, 2016 7:02 PM
प्रतीकात्मक चित्र

कई बार आपके मुंह में छाले हो जाते हैं और आपको पता भी नहीं चलता है कि आखिर ये छाले कैसे हुए हैं और अब इसके लिए परेशान रहते हैं। अगर आपको यह पता चल जाए कि यह छाले किस वजह से होते हैं तो आप इन्हें होने से रोक सकते हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि मुंह में छाले किस वजह से होते हैं और कैसे इनसे बचा जा सकता है।

मुंह की सफाई- मुंह के छाले होने की सबसे बड़ी वजह से मुंह में गंदगी। अगर आप अच्छे से मुंह साफ करेंगे तो आपके छाले होने का खतरा आधा हो जाएगा। वहीं जरूरत से ज्यादा ब्रश करना भी मुंह के छाले का कारण बन सकते हैं। कुछ लोग, ऐसे टूथपेस्ट का इस्तेमाल करते हैं जिसमें सोडियम लॉरिल सल्फेट मिला हुआ होता है। इसकी वजह से मुंह के छाले व अन्य समस्याएं हो जाती हैं।

तनाव- आपको यह सुनकर थोड़ा अजीब लगे लेकिन ये बात सच है कि तनाव भी छालों का कारण बन सकते हैं। जब आप तनावग्रस्त या अवसादग्रस्त होते हैं तो आपका शरीर कुछ ऐसे केमिकल स्रावित करता है जो कि पूरे शरीर को प्रभावित करते हैं, और साथ ही, मुंह के छालों का कारण बनते हैं।

पोषण की कमी- हमारे शरीर को जरुरी पोषक तत्वों का मिलना बहुत जरुरी है और उनकी पूर्ति नहीं होने की वजह से भी मुंह में छाले हो जाते हैं। विटामिन बी, आयरन और फॉलिक एसिड जैसे पोषक तत्वों की कमी से मुंह के छालों के साथ-साथ कुछ अन्य गंभीर समस्याएं होने का जोखिम बढ़ जाता है। इसलिए, मुंह के छालों का जोखिम कम करने के लिए अपने खाने में आवश्यक विटामिन और मिनरल डालना न भूलें।

कुछ बीमारियों के कारण- कुछ ऐसी बीमारियां भी हैं जिनकी वजह से मुंह में छाले हो जाते हैं। वायरल इंफेक्शन, क्रोहन्स डिजीज, पेट की कुछ बीमारियां, अर्थराइटिस के कारण आपके मुंह में छाले हो सकते हैं। इसके अलावा, जिन लोगों की इम्यून सिस्टम कमजोर होती है उनको भी मुंह के छाले बहुत जल्दी हो जाते हैं।

दवाइयां- कुछ दवाओं के कारण भी मुंह में छाले हो सकते हैं। पेन किलर्स, बेटा ब्लॉकर्स और ऐसी दवाइयां जिनका इस्तेमाल छाती के दर्द के लिए किया जाता है, उनसे मुंह के छाले हो सकते हैं। ये छाले अस्थायी होते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App