ताज़ा खबर
 

इन चार वजहों से आपको बिना तकिया लगाए सोने की होनी चाहिए आदत

तकिया लगाकर सोने से आपको रीढ़ संबंधी समस्याओं के अलावा कील-मुहांसों और झुर्रियों तक की समस्या हो सकती है।

प्रतीकात्मक चित्र

हम सभी को सिर के नीचे तकिया लगाकर सोने की आदत होती है। मुलायम तकिया लगाकर सोने में हम सुविधा महसूस करते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि तकिया लगाकर सोने से आपको रीढ़ संबंधी समस्याओं के अलावा कील-मुहांसों और झुर्रियों तक की समस्या हो सकती है। ऐसा सच में हो सकता है। बिना तकिया लगाए सोने की सलाह आपने कई बार सुनी होगी लेकिन ऐसा करने से आपको फायदे क्या क्या हो सकते हैं इसके बारे में हम आज आपको बताने वाले हैं।

बिना तकिया लगाए सोने के फायदे –

मुहांसे और झुर्रियां रोकने में मददगार – बिना तकिए के सोने से कील-मुहांसों से छुटकारा मिलता है। तकिए के कवर पर काफी मात्रा में धूल-गंदगी और बैक्टीरिया होते हैं जो चेहरे की त्वचा पर चिपककर मुहांसों आदि का कारण होते हैं। इसके अलावा तकिए पर हमारे चेहरे की त्वचा काफी आराम की स्थिति में होती है। इससे चेहरे पर झुर्रियों के आने का खतरा बढ़ जाता है। ऐसें में अगर आप मुहांसों और कम उम्र में ही झुर्रियों की समस्या से निजात पाना चाहते हैं तो आज ही से तकिए का इस्तेमाल बंद कर दें।

पीठ दर्द रोकने में मददगार – जब हम बिना तकिए के सोते हैं तब हमारी रीढ़ आराम की मुद्रा में होती है और शरीर प्राकृतिक वक्रता में होता है। ऐसे में मोटे तकिए के साथ सोने पर पीठ में दर्द होने की समस्या हो ही सकती है। अगर आपके साथ पीठ दर्द की समस्या है तो तत्काल ही तकिए का प्रयोग बंद कर दें।

नींद की क्वालिटी सुधरती है – अगर आप सोचते हैं कि सोते समय मखमली तकिया आपके गर्दन और सिर को सपोर्ट करता है और आपकी नींद बेहतर बनती है तो यह सरासर गलत सोच है। एक शोध में बताया गया है कि बिना तकिए के सोने से नींद की क्वालिटी सुधरती है। इसके अलावा यह इन्सोम्निया जैसी नींद न आने वाली समस्याओं से निजात दिलाने में भी मदद करता है।

याद्दाश्त बढ़ाए – जब हम सोते हैं तब हमारा दिमाग आराम की स्थिति में होता है। सुबह जब हम मानसिक रूप से तरोताजा होकर उठते हैं तो हमारी मेमोरी सेहतमंद रहती है। इससे याद्दाश्त दुरुस्त रहता है। लेकिन ऐसा तभी संभव है हम जब हमारे सोने की पोजिशन सही हो। सही पोजिशन में सोने के लिए सर के नीचे से तकिया हटाना जरूरी है।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App