ताज़ा खबर
 

सर्दी-खांसी कम करने में मददगार है कलौंजी, जानें क्या हैं दूसरे फायदे

Nigella or Black Seed Benefits: कलौंजी में विटामिन, आयरन, सोडियम, कैल्शियम, अमीनो एसिड, रॉ फाइबर, प्रोटीन और फैटी एसिड जैसे कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं

रोजाना 2 बार कलौंजी के तेल का इस्तेमाल करने से हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से निजात मिल सकती है

Kalonji Health Benefits: भारतीय घरों में मसाले के रूप में कलौंजी का इस्तेमाल बेहद आम है। खाने का स्वाद बढ़ाने में मददगार ये मसाला कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसे देश के अलग-अलग कोनों में विभिन्न नामों से जाना जाता है। कहीं लोग इसे कलौंजी तो कहीं मंगरेला कहते हैं। कई जगह इसे ब्लैक सीड और निजेला के नाम से भी जाना जाता है। किचन का ये आइटम स्वास्थ्य गुणों से भी भरपूर होता है। कलौंजी में कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, मैग्नीशियम और जिंक प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो सेहत के लिए कई तरह से लाभकारी होता है।

कम होती है सर्दी-खांसी की परेशानी: कलौंजी में कई तरह के एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो सर्दी-खांसी की परेशानी को कम करने में सहायक होते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स मानते हैं कि कलौंजी के बीजों को गर्म करके इसकी खुशबू लेने से सर्दी-जुकाम से जल्दी छुटकारा मिलेगा। साथ ही, जो लोग गले में कफ से परेशान हैं उन्हें भी इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

कैसे करें इस्तेमाल: जिन लोगों को सर्दी-खांसी की समस्या अधिक होती है उन्हें कलौंजी का इस्तेमाल रोजाना करना चाहिए। नियमित रूप से 450 मिलीग्राम कलौंजी के तेल को दिन में 2 बार इस्तेमाल किया जा सकता है। तेल के अलावा, मरीज  1 ग्राम कलौंजी के बीजों का पाउडर दिन में 2 बार ले सकते हैं।

कलौंजी के कई हैं स्वास्थ्य फायदे: कलौंजी में विटामिन, आयरन, सोडियम, कैल्शियम, अमीनो एसिड, रॉ फाइबर, प्रोटीन और फैटी एसिड जैसे कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-कैंसर गुण भी होते हैं।

कंट्रोल में रहता है शुगर लेवल: हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि कलौंजी के इस्तेमाल से डायबिटीज के मरीजों के शरीर में इंसुलिन का प्रोडक्शन बेहतर होता है। साथ ही साथ, ब्लड शुगर भी कंट्रोल में रहता है। कलौंजी का तेल पैन्क्रियाज में आई सूजन को भी कम करता है। इसके अलावा, मधुमेह के दूसरे लक्षणों को कम करने में भी ये सहायक होता है।

कोलेस्ट्रॉल और ट्राईग्लिसराइड्स पर रहेगा काबू: एक शोध के अनुसार नियमित रूप से रोजाना 2 बार कलौंजी के तेल का इस्तेमाल करने से हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से निजात मिल सकती है। ये शरीर में मौजूद बैड कोलेस्ट्रॉल को खत्म करने में मददगार है। साथ ही इसके सेवन से ब्लड में ट्राईग्लिसराइड्स फैट भी कम होता है।

वजन पर रखता है नियंत्रण: वजन कम करने में कलौंजी के बीज काफी मददगार साबित होते हैं। इनमें काफी मात्रा में फाइबर होता है जो आपको ओवर वेट होने से बचा सकता है। ये पेट की चर्बी को कम करने में भी सहायक है।

Next Stories
1 Fatty Liver के मरीज इस समय करें कॉफी का सेवन, ये हेल्दी ड्रिंक्स भी हैं लाभकारी
2 क्या Uric Acid के मरीजों को खाना चाहिए अंडा? जानें किन बातों का रखें ध्यान
3 डायबिटीज रोगियों के लिए रामबाण माना जाता है सेब का सिरका, जानें कैसे करें इस्तेमाल
ये पढ़ा क्या?
X