ताज़ा खबर
 

Dengue fever: डेंगू होने पर क्या सच में पपीते के पत्ते का जूस फायदेमंद है? जानिए एक्सपर्ट की राय

Dengue fever symptoms, prevention, remedy, treatment, cause, vaccine: हर साल भारत सहित कई अन्य देशों में लोग डेंगू के शिकार हो रहे हैं। कई लोगों को सही इलाज ना मिल पाने के कारण अपनी जान भी गवानी पड़ रही है।

Dengue, dengue treatment, dengue fever, dengue fever causes, dengue fever prevention, dengue fever rash, 7 warning signs of dengue fever, dengue fever test, dengue fever symptoms, types of dengue feverDengue fever: डेंगू होने पर करें इस प्रकार इलाज
Dengue fever, cause, symptoms, treatment, prevention: हर साल डेंगू के हजारों मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में खुद को और अपने आस-पास के लोगों को सुरक्षित रखने के लिए निवारक उपायों को अपनाना महत्वपूर्ण हो जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, “डेंगू एक वायरल इंफेक्शन है जो एक संक्रमित मादा एडीज मच्छर के काटने से फैलता है। डेंगू वायरस के चार अलग-अलग सीरोटाइप हैं (DEN 1, DEN 2, DEN 3 और DEN 4)।” यह मच्छर जनित रोग शरीर में रक्त की प्लेटलेट्स की गिनती को कम करके, बुखार के कारण, गंभीर जोड़ों के दर्द और त्वचा पर अन्य लक्षणों के कारण चकत्ते पैदा करता है। यह एक मौसमी खतरा है, जिसका सामना भारत के कई शहरों में हर साल होता है, खासकर जुलाई से सितंबर के मानसून के महीनों में।

शुरुआत में पता लगाने के कई विभिन्न उपचार उपलब्ध होते हैं। डेंगू के लिए घरेलू उपचार एक चमत्कार की तरह काम करता है। उनमें से एक पपीते के पत्तों का जूस है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ, इस उपाय को यह नहीं बताते हैं कि इसके प्रभाव के पर्याप्त वैज्ञानिक प्रमाण नहीं हैं। फिर भी, पूरे भारत में, रोगियों के परिवार के सदस्य इस विश्वास के साथ रोगियों को इस जूस को पिलाते हैं कि यह ब्लड प्लेटलेट्स काउंट बढ़ा सकता है।

पपीता का पत्ता पेपीने और काइमोपैन जैसे एंजाइम्स से भरपूर होता है, जो पाचन में सहायता करता है, सूजन और अन्य पाचन विकारों को रोकता है। पाचन के अलावा, करपैन जैसे मजबूत क्षारीय यौगिक प्रभावी रूप से रूसी से लड़ने के खिलाफ काम करता है। पपीते की पत्तियों में विटामिन ए, सी, ई, के, और बी और कैल्शियम, मैग्नीशियम, सोडियम मैग्नीशियम और आयरन जैसे मिनरल्स भी उच्च मात्रा में होते हैं।

बैंगलोर स्थित पोषण विशेषज्ञ, डॉ. शीला कृष्णस्वामी के अनुसार, “डेंगू के इलाज के लिए पपीते के पत्तों के प्रभाव के बारे में अटकलें जारी हैं। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि प्लेटलेट्स के उत्पादन में पपीते के पत्ते का जूस महत्वपूर्ण योगदान देता है, इस प्रकार प्लेटलेट काउंट में वृद्धि होती
है।”

साकेत, मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल की न्यूट्रिशनिस्ट डॉ. रितिका समद्दर कहती हैं, “यह एक आम धारणा है कि पपीते के पत्ते का जूस डेंगू से उबरने में मदद करता है। हालांकि, यह इसके लिए अधिक शोध किए जाने की आवश्यकता है कि क्या यह डेंगू का इलाज कर सकता है या ब्लड प्लेटलेट्स बढ़ा सकता है। लोग अभी भी पपीते के पत्तों के रस का सेवन कर सकते हैं, क्योंकि इससे कोई नुकसान नहीं है।”

(और Health News पढ़ें)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 69 के हुए पीएम नरेंद्र मोदी, ये है उनका फ‍िटनेस फंडा
2 Diabetes: अगर आपको है डायबिटीज तो आदत डालें इस तरह के ब्रेकफास्ट का
3 Type 2 Diabetes: ‘नो ऑयल, हाई फाइबर’ ब्लड शुगर जल्दी कंट्रोल करने का यही है उपाय
ये पढ़ा क्या?
X