ताज़ा खबर
 

ज्यादा देर तक भूखे रहने से बढ़ सकता है यूरिक एसिड, काबू पाने के लिए रखें इन बातों का ध्यान

Uric Acid Causes: कई बार यूरिक एसिड की मात्रा जानने के लिए डॉक्टर्स यूरिन टेस्ट की भी सलाह देते हैं

ज्यादा उपवास करने या हद से ज्यादा डाइटिंग करने से भी यूरिक एसिड का लेवल बढ़ सकता है

Uric Acid Home Remedies: शरीर में जब प्यूरीन नामक प्रोटीन की अधिकता होने पर यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है। पहले के समय में उम्रदराज लोगों में यूरिक एसिड की अधिकता की समस्या देखने को मिलती थी। मगर आज की जीवन शैली में किशोर भी इससे समस्या से ग्रसित हैं। इसके वजह से उन्हें उठने-बैठने में परेशानी, हमेशा जोड़ों में दर्द और उंगलियों मे सूजन की शिकायत हो सकती है। शरीर के जोड़ों और टिश्यूज में यूरिक एसिड की अधिकता से कई लोगों को गाउट नाम की बीमारी हो जाती है। शोध के अनुसार, ऐसा भी माना गया है कि जो लोग अधिक उपवास रखते हैं उनमें भी जल्दी यूरिक एसिड बढ़ता है। आइए जानते हैं विस्तार से –

क्या हैं यूरिक एसिड बढ़ने के कारण: यूरिक एसिड एक ऐसा केमिकल है जो शरीर में तब बनता है जब शरीर प्यूरीन (purine) नामक केमिकल का संसाधन करता है यानि उसको छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक ज्यादा उपवास करने या हद से ज्यादा डाइटिंग करने से भी यूरिक एसिड का लेवल बढ़ सकता है। वहीं, मांस, चिकन या कलेजी जिन्हें हाई प्रोटीन फूड्स कहते हैं, इनके सेवन से शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता है।

कैसे पता लगाएं यूरिक एसिड बढ़ा है या नहीं: कई बार यूरिक एसिड की मात्रा जानने के लिए डॉक्टर्स यूरिन टेस्ट की भी सलाह देते हैं। इसके अलावा, ब्लड टेस्ट के जरिये भी ये पता लगाया जा सकता है कि शरीर में यूरिक एसिड लेवल कितना है। ये ब्लड टेस्ट भूखे पेट कराने की सलाह दी जाती है ताकि कोई भी चीज आपके टेस्ट रिजल्ट को प्रभावित न कर सके। बता दें कि शरीर में यूरिक एसिड का नॉर्मल रेंज महिलाओं, पुरुषों और बच्चों में अलग-अलग होता है।

किन बातों का ध्यान रखना है जरूरी: अगर आपके शरीर में यूरिक एसिड अधिक मात्रा में मौजूद है तो फ्रुक्टोज वाला खाना खाने से भी शरीर में यूरिक एसिड बढ़ता है। इनसे परहेज करें। समुद्री भोजन जैसे कि झींगा, केकड़ा और टूना, ट्राउट जैसी आम मछलियां खाने से भी यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। इसके साथ ही, लोगों को पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। कोशिश करें कि तरल पदार्थ जैसे कि फलों का जूस, नारियल पानी और ग्रीन टी को अहमियत दें। इससे शरीर से विषैले पदार्थ यूरिन के जरिये बाहर निकल आते हैं।

Next Stories
1 स्किन में खुजली फैटी लिवर का हो सकता है लक्षण, जानें कैसे करें इस गंभीर बीमारी की पहचान
2 बचपन से बुढ़ापे तक, महिलाओं को किन जरूरी हेल्थ चेकअप्स कराने की दी जाती है सलाह? जानिये
3 Diabetes के कारण शरीर के ये 5 अंग होते हैं प्रभावित, जानें
ये पढ़ा क्या?
X