scorecardresearch

Diabetes Cure: मुंह में दिखने वाले 2 बदलाव डायबिटीज के हैं संकेत, जानिए कैसे करें बचाव

डायबिटीज को कंट्रोल करना है तो डाइट पर कंट्रोल करें।

Diabetes, Diabetes symptoms, Diabetes symptoms in mouth, Increased Thirst
मुंह का सूखना या फिर ज्यादा प्यास लगना डायबिटीज के संकेत हैं। photo-freepik

डायबिटीज जिंदगी भर साथ रहने वाली एक ऐसी बीमारी है जिसे साइलेंट किलर के नाम से जाना जाता है। देश और दुनियां में शुगर के मरीजों की तादाद लगातार बढ़ रही है। उम्र दराज लोगों में पनपने वाली ये बीमारी अब कम उम्र के लोगों को भी अपनी चपेट में ले रही है। डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिसमें ब्लड में शुगर का स्तर तेजी से बढ़ने लगता है। इस बीमारी के पनपने का कारण खराब डाइट, खराब लाइफस्टाइल, तनाव और मोटापा है।

ब्लड में शुगर का स्तर बढ़ने पर पैंक्रियाज पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर पाता, तो शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के प्रति ठीक से प्रतिक्रिया नहीं कर पाती हैं। । लम्बे समय तक ब्लड में शुगर का स्तर ज्यादा रहने से बॉडी के कई अंगों जैसे हार्ट, किडनी और लंग्स को नुकसान पहुंच सकता है। शुगर बढ़ने पर स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ सकता है।

डायबिटीज मौत का कारण बन सकती है इसलिए इस बीमारी के लक्षणों की पहचान करना जरूरी है। ब्लड में ग्लूकोज का स्तर बढ़ने पर जहां बॉडी में कई बदलाव आते हैं वहीं मुंह में भी डायबिटीज के दो लक्षण दिखने लगते हैं। आइए जानते हैं ब्लड में शुगर का स्तर बढ़ने पर मुंह में कौन से दो लक्षण दिखते हैं? इस बीमारी से बचाव कैसे करें।

मुंह के अंदर डायबिटीज के लक्षण: ब्लड में शुगर का स्तर हाई होने पर बॉडी में उसके लक्षण दिखना शुरू हो जाते हैं जैसे बार-बार पेशाब आना, बीमार जैसा महसूस करना, बहुत ज्यादा थकावट, आंखों में धुंधलापन, अचानक से वजन घटना, मुंह, गले या शरीर पर कहीं भी छाले निकलना और जख्म का देरी से भरना शामिल है। लेकिन डायबिटीज के कुछ लक्षण मुंह में भी दिखाई देने लगते हैं जैसे मुंह का सूखना या फिर ज्यादा प्यास लगना और मुंह से फलों की गंध आना भी डायबिटीज के संकेत हैं।

डाइट पर करें कंट्रोल: डायबिटीज को कंट्रोल करना है तो डाइट पर कंट्रोल करें। डायबिटीज के मरीज डाइट में ऐसे फूड्स को शामिल करें जिनका ग्लाइसेमिक वैल्यू लो हो। डाइट में कम कार्बोहाइड्रेट और फाइबर से भरपूर भोजन शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद है। डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए आप डाइट में हरी सब्जियों को शामिल करें।

मोटापा को कंट्रोल करें: डायबिटीज की बीमारी से बचाव करना है तो मोटापा को कंट्रोल करना होगा। टाइप 1 डायबिटीज मोटापा से जुड़ी है जिसका कोई इलाज नहीं हो सकता। अगर आप इस बीमारी से बचाव करना चाहते हैं तो मोटापा कम करें।

बॉडी को एक्टिव रखें: निष्क्रिय जीवनशैली डायबिटीज की बीमारी को बढ़ाती है इसलिए आप बॉडी को एक्टिव रखें। रेगुलर वॉक और एक्सरसाइज करें।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट