ताज़ा खबर
 

आज है वर्ल्‍ड आई साइट डे, जानें तेज नजर पाने के लि‍ए आसानी से कैसे करें आंखों की हि‍फाजत

World Eye Sight Day 2017: आज वर्ल्ड आई साइट डे है। हर साल अक्टूबर के दूसरे गुरूवार को आंखों से संबंधित बीमारियों और उसके इलाज के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से यह दिवस मनाया जाता है।
प्रतीकात्मक चित्र

आज वर्ल्ड आई साइट डे है। हर साल अक्टूबर के दूसरे गुरूवार को आंखों से संबंधित बीमारियों और उसके इलाज के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से यह दिवस मनाया जाता है। इस खूबसूरत दुनिया को देखने के लिए हमारे शरीर में आंखें होती हैं। दुनिया में ऐसे अनगिनत लोग हैं जो अपनी आंखों से देख नहीं सकते। आंखों का महत्व उन लोगों से बेहतर कौन बता सकता है। आंखें हमारे शरीर के सबसे संवेदनशील अंगों में से एक हैं इसलिए इनकी खास देखभाल बहुत जरूरी है। नए दौर में टेलीविजन, कंप्यूटर और स्मार्टफोन्स के आने के साथ-साथ हमारी आंखों के काम और उनकी सेहत के लिए खतरे काफी बढ़ गए हैं। इसके अलावा प्रदूषण और अन्य पर्यावरणीय कारणों की वजह से भी आंखों को नुकसान पहुंचाने वाले तत्वों की संख्या बढ़ी है। ऐसे में अपनी आंखों को इन परेशानियों से बचाना आज एक बड़ी चुनौती है। इसी संबंध में आज हम आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बाने वाले हैं जिनका इस्तेमाल अगर आप करते हैं तो अपनी आंखों को काफी हद तक सुरक्षित रख सकते हैं। तो आइए, जानते हैं क्या हैं वो तरीके –

सही पोषण लें – आंखों की अच्छी सेहत के लिए जरूरी है कि आप पोषक तत्वों से भरपूर आहार लें। अपनी डाइट में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स, ल्यूटीन, जिंक ,विटामिन सी और ई को शामिल करें। इससे आपको बढ़ती उम्र के कारण होने वाली आंखों की बीमारियों से राहत मिलेगी। इसके अलावा हरी पत्तेदार सब्जियां, अंडे, नट्स, बीन्स, संतरे और अन्य साइट्रस फलों के जूस आंखों के लिए काफी फायदेमंद हैं।

स्मोकिंग छोड़ें – स्मोकिंग आंखों की नसों को काफी नुकसान पहुंचाता है। साथ ही साथ यह मोतियाबिंद और आंखों से संबंधित अन्य कई समस्याओं का कारण भी होता है। इसलिए जितनी जल्दी हो सके स्मोक करने की आदत को छोड़ दें। आपकी आंखों की सेहत के लिए यह बहुत जरूरी है।

सनग्लासेज का करें इस्तेमाल – सूर्य की खतरनाक अल्ट्रावायलेट किरणें आंखों में मोतियाबिंद और मैस्कुलर डिजनरेशन जैसी समस्या को जन्म देती हैं। ऐसे में इन नुकसानदेह किरणों से बचने के लिए आप सनग्लासेज का इस्तेमाल करें। यह पराबैगनी किरणों के प्रभाव से आपकी आंखों को बचाने में मददगार है।

कंप्यूटर स्क्रीन के सामने देर तक न बैठें – बहुत देर तक कंप्यूटर स्क्रीन के सामने बैठे रहने से दृष्टि में धुंधलापन, एक जगह फोकस करने में परेशानी, आंखों में सूखापन, सिरदर्द, गला पीठ और कंधों में दर्द आदि समस्याएं होती है।इनसे बचाव के लिए आपको कंप्यूटर के सामने बैठने से पहले चश्मे का उपयोग करना चाहिए। काम के बीच में अपनी आंखों को हर बीस मिनट पर आराम देना चाहिए। और बीस सेकंड तक 20 फीट की दूरी तक देखना चाहिए। यह आंखों को बहुत आराम पहुंचाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.