scorecardresearch

लो ब्लड प्रेशर की है शिकायत तो डाइट में शामिल करें ये 5 फूड्स, कम होगी परेशानी

Low Blood Pressure Home Remedies: कीवी में विटामिन-सी, के, ई, फोलेट और पोटैशियम जैसे जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो बीपी कंट्रोल करने में मददगार साबित होते हैं

Low blood pressure, low bp, Low blood pressure diet chart in hindi
नियमित रूप से कीवी खाने से लोगों के शरीर में खून की कमी नहीं होती है

Low Blood Pressure: ब्लड प्रेशर का बढ़ना और घटना, दोनों ही स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है। लो बीपी यानि कि हाइपोटेंशन उस स्थिति को कहते हैं जब लोगों के रक्तचाप का स्तर 90 और 60 के लगभग होता है। इस स्वास्थ्य परेशानी में शरीर के मुख्य हिस्सों तक पर्याप्त मात्रा में खून का सप्लाई नहीं हो पाता है। इससे स्ट्रोक, हार्ट अटैक और किडनी फेलियर का खतरा होता है। ऐसे में जरूरी है कि ब्लड प्रेशर का स्तर नियंत्रित रहे। निम्न रक्तचप की समस्या को दूर करने के लिए लोगों की डाइट बेहतर होना आवश्यक है। इसलिए इन 5 फूड्स का सेवन जरूर करें।

कीवी: हरे रंग के इस फल में विटामिन-सी, के, ई, फोलेट और पोटैशियम जैसे जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो बीपी कंट्रोल करने में मददगार साबित होते हैं। इसके सेवन से शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है। साथ ही, नियमित रूप से कीवी खाने से लोगों के शरीर में खून की कमी नहीं होती है और उनका रक्तचाप ठीक बना रहता है।

कॉफी: लो बीपी को अगर तुरंत कंट्रोल करना है तो कॉफी का सेवन करें। हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक कॉफी में मौजूद कैफीन रक्तचाप के स्तर को नॉर्मल करने में मददगार साबित हो सकते हैं। लेकिन इसका सेवन करते वक्त मात्रा का ध्यान जरूर रखें। ज्यादा कॉफी पीने से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है।

केला: डॉक्टर्स बताते हैं कि ब्लड प्रेशर कम होने पर शरीर में न्यूट्रिएंट्स की कमी हो जाती है। इतना ही नहीं, इस वजह से शरीर के हिस्सों में ऑक्सीजन भी पर्याप्त मात्रा में नहीं पहुंचता है। ऐसे में केले का सेवन मरीजों के लिए लाभकारी साबित हो सकता है। इसमें कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं जो शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

शकरकंद: शकरकंद में मौजूद तत्व निम्न रक्तचाप के स्तर को बेहतर करते हैं। डॉक्टर्स लो बीपी की समस्या से जूझ रहे लोगों को दिन में 2 बार एक कप शकरकंद का जूस पीने की सलाह देते हैं।

छाछ: लो ब्लड प्रेशर के मरीज सुबह नाश्ते के बाद छाछ का सेवन कर सकते हैं। छाछ में नमक, भुना हुआ जीरा और हींग मिलाकर सेवन करें। इससे बीपी नियंत्रित रहेगा।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.