ताज़ा खबर
 

Arthritis patients: डाइट को बेहतर करने के अलावा अर्थराइटिस के मरीज इन बदलावों को अपनाएं

Arthritis cause, remedy, treatment, symptoms, medicine, exercise, diet: अर्थराइटिस के मरीजों को जोड़ों में दर्द की समस्या रहती है। ऐसे में वे अपनी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव लाकर इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं और दर्द को भी कम कर सकते हैं।

Arthritis patients: अर्थराइटिस के मरीजों के लिए आसान उपचार

Arthritis patients patients, cause, symptoms, treatment, home remedy, medicine: गठिया(अर्थराइटिस) एक क्रोनिक इंफ्लेमेट्री डिसऑर्डर है जो आपके जोड़ों को प्रभावित करता है। यह एक ऑटोइम्यून डिसऑर्डर है जो आपके इम्यून सिस्टम को गलत तरीके से शरीर के ऊतकों पर हमला करता है। यह ऑस्टियोआर्थराइटिस से अलग होता है, और आपके जोड़ों के अस्तर को प्रभावित करता है। गठिया जोड़ों में सूजन का कारण बनता है जो काफी दर्दनाक होता है। समय पर उचित उपचार से इसे नियंत्रित नहीं किया जाता है। कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिसे आप अपने लाइफस्टाइल में शामिल कर के अर्थराइटिस के कारण होने वाले दर्द से राहत पा सकते हैं।

रोजाना एक्सरसाइज करें: नियमित एक्सरसाइज गठिया की वजह से होने वाली कठोरता को कम करने में मदद कर सकता है। गठिया रोगियों के लिए एक्सरसाइज की आवृत्ति और अवधि हर किसी के लिए अलग होती है। एक्सरसाइज की अवधि भी रोगी की व्यक्तिगत क्षमता पर निर्भर करता है। सामान्य तौर पर, सभी गठिया रोगियों को कम से कम 20 से 30 मिनट एक्सरसाइज करने की जरूरत होती है। गठिया के रोगियों को नियमित रूप से विभिन्न प्रकार के वर्कआउट करने की कोशिश करनी चाहिए।

हेल्दी डाइट: गठिया के रोगियों को एक एंटी-इंफ्लेमेट्री डाइट का पालन करना चाहिए। उन्हें अपनी डाइट में ताजे फल और सब्जियों को शामिल करना चाहिए। मछली और ब्लैक कॉफी जैसे खाद्य पदार्थों में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो गठिया के रोगियों के लिए फायदेमंद हो सकता है। ग्रील्ड, फ्राइड और बारबीक्यू किए हुए मांस से बचना चाहिए। ये खाद्य पदार्थ गठिया के रोगियों में सूजन बढ़ा सकता है।

धूम्रपान और एल्कोहल से बचें: धूम्रपान और पैसिव स्मोकिंग अर्थराइटिस को खराब कर सकता है। गठिया के रोगियों को भी एल्कोहल के सेवन से बचना चाहिए क्योंकि गठिया की कुछ दवाएं हैं जो शराब के संपर्क में आने पर शरीर में समस्या पैदा कर सकती है।

आराम करें: गठिया से पीड़ित लोगों को पर्याप्त आराम करना चाहिए जिससे उन्हें अत्यधिक दर्द महसूस ना हो। लेकिन, आराम करने पर भी, गठिया के रोगियों को नियमित रूप से अपने जोड़ों को हिलाते रहना चाहिए। पूर्ण आराम से जोड़ों में कठोरता का खतरा बढ़ जाता है।

(और Health News पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 क्या डायबिटीज के मरीजों के लिए खजूर खाना होता है फायदेमंद, जानिए
2 Hypertension/High blood pressure: जान भी जा सकती है हाइपरटेंशन से, नमक नहीं सेंधा नमक खाएं
3 World Heart Day 2019 Theme, Slogan, Activities: दिल की बीमारी के लिए ये हैं मुख्य वजह, जानिए एक्सपर्ट की राय
ये पढ़ा क्या?
X