ताज़ा खबर
 

कम करना है मोटापा तो डाइट में शामिल करें सेलेनियम से भरपूर फूड्स

Easy Weight Loss Tips: अंडों में भरपूर मात्रा में सेलेनियम पाया जाता है, स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि एक उबले अंडे में करीब 20 माइक्रोग्राम सेलेनियम मौजूद होता है

Weight Loss, healthy snacks for weight loss, obesity, fatसेलेनियम एक ऐसा पोषक तत्व है जो मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करके लोगों को मोटापा के खतरे से दूर रखता है

Weight Loss Foods: वर्तमान समय में मोटापा किसी को भी अखर जाता है, ऐसे में हर कोई वजन घटाने की कोशिश में जुटा रहता है। मोटापा कई बीमारियों का कारण बन सकता है जो कई बार जानलेवा भी साबित हो सकता है। एक्सरसाइज से लेकर डाइटिंग तक, वजन घटाने के लिए लोग तमाम कोशिशें करते हैं। आमतौर पर लोग सोचते हैं कि भूखे रहने से वजन जल्दी घटाना संभव है, लेकिन इसमें जरा भी सच्चाई नहीं है। भूखे रहने से मोटापा तो कम नहीं होगा लेकिन लोग बीमार जरूर पड़ जाते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि शरीर में पोषक तत्व की कमी से कई शारीरिक परेशानियां हो सकती हैं।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि सेलेनियम एक ऐसा पोषक तत्व है जो मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करके लोगों को मोटापा के खतरे से दूर रखता है। ऐसे में अगर आप मोटापा के शिकार नहीं होना चाहते हैं तो डाइट में सेलेनियम युक्त फूड्स को जरूर शामिल करें।

कौन से फूड्स को दें अहमियत: अंडों में भरपूर मात्रा में सेलेनियम पाया जाता है, स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि एक उबले अंडे में करीब 20 माइक्रोग्राम सेलेनियम मौजूद होता है। इसके अलावा, सूरजमुखी के बीज को सेलेनियम का बेहतरीन स्रोत माना जाता है। एक-चौथाई कप सनफ्लावर सीड्स में 19 माइक्रोग्राम सेलेनियम पाया जाता है। वहीं, ट्यूना मछली, ऑइस्टर्स, क्लैम्स, श्रिम्प (shrimp), सैल्मन, क्रैब आदि समुद्री आहार में भी सेलेनियम प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है।

यही नहीं, पनीर, पालक, दूध, दही, केला, मशरूम, ओट्स और दाल में भी सेलेनियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

क्यों जरूरी है सेलेनियम: सेलेनियम शरीर के लिए एक एंटी-ऑक्सीडेंट के जैसे काम करता है। ये बॉडी को ओक्सीडेटिव डैमेज से बचाता है। साथ ही, शरीर में आयोडीन के हेल्दी लेवल को मेंटेन करने के लिए भी सेलेनियम जरूरी है। ये विटामिन-सी को रिसाइकिल करने में मददगार है जिससे सेल्स के निर्माण व रिपेयरिंग में मदद मिलती है।

दिन भर में कितना खाएं: राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के मुताबिक जो लोग युवावस्था में प्रवेश कर चुके हैं उन्हें दिन भर में 55 माइक्रोग्राम का सेवन करना चाहिए। जबकि इससे कम उम्र के बच्चे 30 से 40 ग्राम सेलेनियम जरूर खाएं और छोटे बच्चों के लिए 20 माइक्रोग्राम सेलेनियम जरूरी है।

Next Stories
1 गर्मियों के ये ड्रिंक्स यूरिक एसिड कंट्रोल करने में माने जाते हैं रामबाण, आप भी करें ट्राय
2 बुजुर्गों में शुगर और बीपी बढ़ने से हो सकता है किडनी रोग का खतरा, जानें
3 शाकाहारी भोजन करने वालों में ज्यादा होती है प्रोटीन की कमी, जानें कैसे करें इसे दूर
ये पढ़ा क्या?
X