ताज़ा खबर
 

High BP से पाना चाहते हैं निजात तो इन आयुर्वेदिक उपायों को करें दिनचर्या में शामिल

High BP Home Remedies: हींग में खून को पतला करने के गुण होते हैं, यानि कि इसके सेवन से शरीर में ब्लड फ्लो सुचारू रूप से होता रहता है

High BP, high blood pressure symptoms, high blood pressure home remedies, ayurvedic remedies for high bpडॉक्टर्स द्वारा बताई गई दवाइयों के अलावा कई आयुर्वेदिक उपाय भी भी हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक है

Tips for BP Patients: हाई ब्लड प्रेशर की समस्या का निदान अगर समय पर नहीं हो तो ये कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को बुलावा देता है। ब्लड प्रेशर बढ़े रहने से दिल की कई बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। यहां तक कि दूसरों की तुलना में हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को दिल का दौरा पड़ने की संभावना भी अधिक होती है। हृदय रोग के अलावा, किडनी फेलियर, स्ट्रोक और कई अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण भी बन सकती है। ऐसे में उच्च रक्तचाप की समस्या को लोगों को हल्के में नहीं लेना चाहिए। डॉक्टर्स द्वारा बताई गई दवाइयों के अलावा कई आयुर्वेदिक उपाय भी भी हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में सहायक है। ऐसे में आइए जानते हैं कि किन उपायों से बीपी को कंट्रोल करने में मदद मिलेगी।

दालचीनी: आयुर्वेद के मुताबिक हाई ब्लड प्रेशर दो तरह के दोषों पित्त और वात की वजह से होता है। इसलिए हाई ब्लड प्रेशर के आयुर्वेदिक इलाज में औषधियों की मदद से इन दोषों को ही संतुलित करने का प्रयास किया जाता है। दालचीनी के इस्तेमाल से उच्च रक्तचाप की परेशानी को नियंत्रण करना आसान हो जाता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार हैं। सुबह खाली पेट रोजाना आधा चम्मच दालचीनी पाउडर के साथ शहद का सेवन करें और फिर गर्म पानी पी लें।

प्याज: प्याज का रस हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार है। जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन में प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक प्याज में क्वेरसेटिन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है जो दिल को हेल्दी रखने में मददगार साबित होता है। बीपी को नियंत्रण में रखने में के लिए कच्चे प्याज का सेवन फायदेमंद हो सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार दो से तीन हफ्ते तक प्याज के रस को सुबह एक चम्मच शहद के साथ खाने की सलाह देते हैं।

काली मिर्च: उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों के लिए काली मिर्च का सेवन भी फायदेमंद साबित हो सकता है। बता दें कि काली मिर्च यूज करने से रक्त धमनियों में ब्लड क्लॉट का खतरा कम होता है। ऐसे में बीपी के मरीजों के लिए काली मिर्च का प्रयोग कारगर साबित हो सकता है।

हींग: एक चुटकी हींग खाने से स्वास्थ्य संबंधी कई चमत्कार हो सकते हैं। हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी धमनियों (Veins) में खून जमने की वजह से भी होती है। हींग हाई बीपी के मरीजों के लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है। हींग में खून को पतला करने के गुण होते हैं, यानि कि इसके सेवन से शरीर में ब्लड फ्लो सुचारू रूप से होता रहता है। इसके अलावा, हींग के इस्तेमाल से धमनियों में ब्लड क्लॉटिंग की समस्या नहीं आती जिससे उच्च रक्तचाप होने का खतरा घटता है। वैसे लोग जिनका ब्लड प्रेशर अनियमित रहता है, उन्हें भी हींग खाने की सलाह दी जाती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लिवर को हेल्दी रखेगा किशमिश से बना ये ड्रिंक, जानिये घर पर कैसे बनाएं
2 क्या Diabetes के मरीज खा सकते हैं मशरूम, जानिये कैसे करता है ब्लड शुगर को प्रभावित
3 Uric Acid: खाने से पहले डाइट में शामिल करें टमाटर और खीरा, यूरिक एसिड के मरीजों को मिलेगी राहत
ये पढ़ा क्या?
X