ताज़ा खबर
 

अर्थराइटिस के दर्द को दूर करने में रामबाण से कम नहीं हल्दी, इन 4 तरीकों से करें रूटीन में शामिल

Tips to remove Knee Pain: ये तत्व गठिया के कारण घुटने में होने वाले दर्द को कम करने में कारगर है, हल्दी का पेस्ट बनाकर दर्द वाले जगह पर लगाने से राहत मिलती है

knee pain, knee pain in hindi, knee pain reason, Arthritis Pain, haldi, turmeric benefitsगठिया के कारण होने वाली सभी परेशानियों को दूर करने में करक्यूमिन बेहद मददगार साबित होता है

Tips for Arthritis Patients: फिजिकल इनैक्टिविटी के कारण पहले जो बढ़ती उम्र की बीमारियां मानी जाती थीं, अब युवा भी उनसे जूझते नजर आते हैं। कई बार लापरवाही के कारण ये आम समस्याएं गंभीर रूप ले लेती हैं, जिनका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ता है। अर्थराइटिस भी इन्हीं बीमारियों में से एक है जिसमें लोग जोड़ों और घुटनों के दर्द से परेशान रहते हैं। सरकारी आंकड़ों के अनुसार भारत में एक करोड़ से भी ज्यादा लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार गठिया के शुरुआती चरणों में अपनी जीवन-शैली में बदलाव लाकर और दवाइयों के नियमित सेवन से मरीजों की स्थिति में सुधार लाया जा सकता है। हल्दी का इस्तेमाल भी अर्थराइटिस में कारगर है –

क्या हैं हल्दी के फायदे: हल्दी अपने महत्वपूर्ण तत्व करक्यूमिन से ही कई बीमारियों का इलाज करने में कारगर है। ये तत्व गठिया के कारण घुटने में होने वाले दर्द को कम करने में कारगर है। साथ ही, हाथ-पैर में अगर सूजन हो तो भी हल्दी के इस्तेमाल से लोगों को इससे निजात मिलेगी। इस बीमारी में मरीज जोड़ों के दर्द से भी परेशान रहते हैं। बता दें कि हल्दी इस दर्द को कम करने में भी प्रभावी साबित होती है।

दवा के रूप में: गठिया के कारण होने वाली सभी परेशानियों को दूर करने में करक्यूमिन बेहद मददगार साबित होता है। इससे होने वाले स्वास्थ्य फायदों को जानते हुए कई जगर करक्यूमिन कैप्सूल के रूप में भी मिल जाती हैं। आप इनका सेवन सप्लीमेंट के रूप में भी कर सकते हैं। हालांकि, इन्हें डाइट में शामिल करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

मसाले के तौर पर: खाने में मसाले के रूप में हल्दी का सेवन करना चाहिए। मरीजों को अपने हर पकवान में एक चुटकी हल्दी का इस्तेमाल करना चाहिए। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का ऐसा मानना है कि सब्जियों में केवल हल्दी मिलाने से करक्यूमिन की पूर्ति नहीं होती है। ऐसे में हल्दी के साथ खाने में चुटकी भर काली मिर्च का भी इस्तेमाल करें।

हल्दी वाला दूध: हल्दी वाला दूध पीने के फायदों से तो आज के समय में बच्चा-बच्चा परिचित है। अच्छी नींद, बेहतर इम्युनिटी के साथ ही ये घुटनों के दर्द से भी राहत दिलाता है। रोजाना रात को सोने से पहले हल्दी दूध पीने से पैरों में आई सूजन में भी कमी देखने को मिलती है। ऐसे में गठिया के मरीजों को नियमित रूप से हल्दी वाला दूध पानी चाहिए।

चाय भी है उपाय: कई लोगों को हल्दी वाला दूध पसंद नहीं होता है, ऐसे में वो हल्दी वाली चाय का सेवन कर सकते हैं। उबलते पानी में कच्ची हल्दी डालें, साथ ही काली मिर्च मिलाएं। जब पानी आधा रह जाए तो इसे गिलास में डालकर पिएं

पेस्ट के तौर पर: हल्दी का पेस्ट बनाकर दर्द वाले जगह पर लगाने से राहत मिलती है। हल्दी में जरा सा पानी मिलाकर उसे पीस लें और मिश्रण बना लें। अब इस मिश्रण को दर्द से प्रभावित हिस्से में लगाएं, जल्द ही दर्द से राहत मिलेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लिवर के फैट को कम करने में कारगर हैं ये आयुर्वेदिक उपाय – जानिये इस्तेमाल का तरीका
2 शकरकंद ब्लड शुगर को काबू करने में माना गया है प्रभावी, डायबिटीज के मरीज इस तरह करें डाइट में शामिल
3 जीवन के 30 बसंत कर चुके हैं पार तो डाइट में लाएं ये बदलाव, भली-चंगी रहेगी तबीयत
IPL 2020 LIVE
X