ताज़ा खबर
 

शरीर में दिख रहे हैं अगर ये 5 लक्षण, तो तुरंत ब्लड शुगर कराएं चेक, Diabetes का हो सकता है खतरा

Diabetes Symptoms: इन मरीजों में इंसुलिन पर्याप्त मात्रा में नहीं बनता इसी कारण शरीर ग्लूकोज को एब्जॉर्ब नहीं कर पाता है और उनमें एनर्जी की कमी हो जाती है

diabetes, diabetes symptoms, blood sugar level, diabetes test, diabetes dietमधुमेह से पीड़ित मरीजों का शरीर दूसरों की तुलना में अधिक कमजोर होता है जिस कारण उनमें कई और बीमारियों से घिर जाने का खतरा अधिक होता है

Diabetes Symptoms: सरकारी आंकड़ों के अनुसार देश की आबादी का 7.8 प्रतिशत हिस्सा डायबिटीज रोगी है यानि कि भारत में मधुमेह के रोगियों की संख्या काफी अधिक है। डायबिटीज के मरीजों को अपने स्वास्थ्य के प्रति अधिक सचेत रहने की जरूरत होती है। इस बीमारी से पीड़ित लोगों की इम्युनिटी कमजोर होती है जिस वजह से उन्हें अपनी सेहत की ओर विशेष ध्यान देना चाहिए। बता दें कि जब शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा अनियंत्रित हो जाती है तब डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। मधुमेह से पीड़ित मरीजों का शरीर दूसरों की तुलना में अधिक कमजोर होता है जिस कारण उनमें कई और बीमारियों से घिर जाने का खतरा अधिक होता है। ऐसे में इन लक्षणों पर ध्यान देकर इस गंभीर समस्या को जल्दी पहचाना जा सकता है।

बार-बार प्यास लगना व पेशाब की इच्छा: आमतौर पर शरीर में जब ग्लूकोज किडनी के पास से गुजरता है तो बॉडी उसे री-अब्जॉर्ब कर लेता है। लेकिन डायबिटीज के कारण जब ब्लड शुगर का स्तर शरीर में बढ़ जाता है तो किडनी फिल्टर करने में असमर्थ हो जाती है। इस वजह से शरीर में सामान्य से अधिक मात्रा में यूरिन बनने लगता है। बार-बार पेशाब करने के कारण ज्यादा प्यास लगती है।

भूख और थकान: जो भी लोग खाते हैं, शरीर उसे ग्लूकोज में परिवर्तित करता है। इसे सेल्स एनर्जी के तौर पर इस्तेमाल करता है। हालांकि, सेल्स इस ग्लूकोज को एनर्जी के तौर पर तभी इस्तेमाल कर सकता है जब शरीर में इंसुलिन बने। इन मरीजों में इंसुलिन पर्याप्त मात्रा में नहीं बनता इसी कारण शरीर ग्लूकोज को एब्जॉर्ब नहीं कर पाता है और उनमें एनर्जी की कमी हो जाती है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को अधिक थकान व भूख लगती है।

धुंधलापन: शरीर में मौजूद तरल पदार्थों का स्तर जब अनियमित होता है तो उसका असर आंखों में लगी लेंस पर भी पड़ता है और उसमें सूजन आ जाती है। इसी कारण डायबिटीज के मरीजों की नजर कमजोर या फिर उन्हें धुंधलापन की शिकायत हो सकती है।

मुंह में सुखापन: मधुमेह मरीजों के शरीर में जो तरल पदार्थ होता है वो ज्यादातर यूरिन फॉर्मेशन में यूज हो जाता है। इस कारण बॉडी की बाकी एक्टिविटीज के लिए नमी की कमी हो जाती है। ऐसे में हो सकता है कि इन मरीजों को ड्राय माउथ की प्रॉब्लम हो।

घाव सूखने में लगे ज्यादा समय: घाव या चोटों को ठीक में अगर ज्यादा समय लग रहा है तो ये डायबिटीज का संकेत हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि हाई ब्लड शुगर ब्लड फ्लो को प्रभावित कर सकता है जिसके कारण नर्व डैमेज होता है। इसके अलावा, यीस्ट इंफेक्शन होने पर भी ब्लड शुगर की जांच करानी चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लहसुन खाने से बढ़ती है इम्युनिटी, जानिये किन तरीकों से इसे कर सकते हैं डाइट में शामिल
2 Covid 19: कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए सब्जियों को धोना ना भूलें, घर पर ही बनाएं सैनिटाइजर, जानिये कैसे
3 Thyroid के कारण वजन पर नहीं हो रहा है कंट्रोल तो डाइट में करें ये बदलाव, जानिये
ये पढ़ा क्या?
X