ताज़ा खबर
 

अब हीमोफीलिया की जांच के लिए नहीं देने होंगे 10 हजार, सिर्फ 50 रुपए में हो जाएगी जांच

Cheapest rapid test kit: हमारे देश में हीमोफिलिया A और VWD दोनों डायगनोस्टिक डिसऑर्डर के अंदर किया जाता है। इस टेस्ट किट का इस्तेमाल सिर्फ कुछ ही ब्लीडिंग डिसऑर्डर के लिए किया जाता है।

मेडिकल टेस्ट

Test kit for blood disorders: इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च(ICMR) ने कुछ आम ब्लड डिसऑर्डर जैसे कि हीमोफिलिया ए और वॉन विलेब्रांड डीजिज (वीडब्ल्यूडी) के निदान के लिए एक सस्ती टेस्ट किट विकसित की है। आईसीएमआर के वैज्ञानिकों के अनुसार, यह निदान ब्लड सैंपल कलेक्ट करने के 30 मिनट के अंदर किया जा सकता है। इस टेस्ट किट का इस्तेमाल कुछ कॉमन ब्लीडिंग डिसऑर्डर की जांच के लिए किया जाएगा। आईसीएमआर ने कहा कि इस किट की कीमत 50 रूपए से भी कम है, जबकि अन्य कीट्स की कीमत 4,000 और 10,000 के बीच है। यह किट विशेष पेपर मेम्ब्रेन से बना होता है, जिस पर टारगेट मॉलेक्यूल का पता लगाने के लिए अलग-अलग घटक लगे होते हैं।

हीमोफिलिया ए और वॉन विलेब्रांड डीजिज सबसे आम ब्लड डिसऑर्डर हैं। विश्व स्तर पर, हीमोफिलिया ए लगभग 10,000 पुरुष जन्मों में से 1 को है और वीडब्ल्यूडी लगभग 1% सामान्य आबादी को है। हालांकि भारत के लिए कोई एपिडेमियोलॉजिकल डेटा नहीं है, अनुमान है कि 80,000-100,000 हीमोफीलिया के मामलें हैं। हालांकि, हीमोफीलिया फेडरेशन इंडिया(एचएफआई) में लगभग 19,000 रजिस्टर्ड केस हैं।

आईसीएमआर ने कहा कि जागरूकता की कमी, नैदानिक सुविधाओं की कमी और टेस्ट की उच्च लागत के कारण भारत में ब्लीडिंग डिसऑर्डर के बारे में लोगों को कम जानकारी है। जिन मरीजों को हीमोफिलिया ए और वॉन विलेब्रांड डीजिज की समस्या है उनकी जिंदगी खतरे में होती है, साथ ही ब्रेन हैमरेज और गैस्ट्रोइन्टेस्टाइनल ब्लीडिंग जैसी बीमारी होने का भी खतरा होता है। ब्लीडिंग डिसऑर्डर के लिए देश में केवल कुछ ही डायगनोस्टिक सेंटर्स मौजूद हैं। हमारे देश में हीमोफिलिया A और VWD दोनों डायगनोस्टिक डिसऑर्डर के अंदर जांच किया जाता है। इस टेस्ट किट का इस्तेमाल सिर्फ कुछ ही ब्लीडिंग डिसऑर्डर के लिए किया जाता है और हीमोफिलिया A और VWD उनमें से एक हैं।

(और Health News पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App