ज्यादा होती है मीठा खाने की क्रेविंग तो अपनाएं ये उपाय, जानें ऋजुता दिवेकर क्या देती हैं सलाह

Rujuta Diwekar Diet Tips: उनके अनुसार क्रेविंग के लिए मुख्य तौर पर तीन चीजें जिम्मेदार हैं जिसमें ब्लोटिंग, डिहाइड्रेशन और नींद की कमी शामिल है

rujuta diwekar, fitness tips, diet tips, craving
अगर आप बार-बार होने वाली शुगर क्रेविंग से परेशान हैं तो कुछ टिप्स फॉलो कर सकते हैं

How to stop sugar craving: आज के समय में हर कोई हेल्दी डाइट फॉलो करना चाहता है ताकि वो स्वस्थ रह सके। लेकिन इस में फूड क्रेविंग सबसे बड़ी चुनौती है। खासकर शुगर क्रेविंग होने पर मीठा खाने की इच्छा की गति भूख से भी अधिक बतायी जाती है। हेल्थ एक्सपर्ट्स क्रेविंग को इमोशनल हंगर कानाम भी देते हैं।

जिन लोगों को फूड क्रेविंग ज्यादा होती है, उनके लिए अपना वजन घटाना भी आसान नहीं होता है। वहीं, ज्यादा मीठा खाने से डायबिटीज, ओबेसिटी और फैटी लिवर जैसी खतरनाक बीमारियों का खतरा भी बढ़ता है। ऐसे में अगर आप बार-बार होने वाली शुगर क्रेविंग से परेशान हैं तो कुछ टिप्स फॉलो कर सकते हैं।

कई फिल्मी सितारों की न्यूट्रिशनिस्ट और डाइटिशियन रह चुकीं ऋजुता दिवेकर ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से कुछ टिप्स शेयर किये हैं जिसके जरिये लोगों को वक्त-बेवक्त होने वाली क्रेविंग को कम करने में मदद मिलेगी। आइए जानते हैं –

ऋजुता के मुताबिक लोगों को भूख और क्रेविंग के बीच का अंतर समझना चाहिए। जब आपने काफी देर से कुछ नहीं खाया होता है तब आपको भूख लगती है। वहीं, अगर अचानक ही कुछ विशेष खाने का मन कर जाए तो वो क्रेविंग है।

उनके अनुसार क्रेविंग के लिए मुख्य तौर पर तीन चीजें जिम्मेदार हैं जिसमें ब्लोटिंग, डिहाइड्रेशन और नींद की कमी शामिल है। खराब लाइफस्टाइल को ठीक करना क्रेविंग कंट्रोल करने के लिए जरूरी है। इसके अलावा, ये फूड्स भी खाने की इच्छा को दबाने में मदद करते हैं।

अचार: भोजन के साथ कई लोग चटकारे लेकर अचार खाते हैं, पर क्या आप जानते हैं कि प्रोबायोटिक्स से भरपूर अचार शुगर क्रेविंग कम करने में मददगार होता है। इसमें प्रचुर मात्रा में गुड बैक्टीरिया होते हैं जो शुगर लेवल कंट्रोल करता है, पाचन को बेहतर करने और मीठा खाने की इच्छा को दबाने में मदद करता है।

दाल: सेलेब्रिटी डाइटिशियन के अनुसार लोगों को अपनी डाइट में अलग-अलग तरहों के पल्सेस शामिल करने चाहिए। दाल में कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे कि फाइबर और प्रोटीन होते हैं जो लोगों को लंबे समय तक संतुष्ट रखने में मदद करते हैं। साथ ही, शुगर क्रेविंग कम करने में भी ये सहायक होते हैं।

बाजरा: साबुत अनाजों में से एक मिलेट यानी बाजरा ग्लूटेन फ्री होता है और कई स्वास्थ्यवर्धक गुणों से भरपूर भी होता है। सप्ताह में 2 बार मिलेट्स खाने से शुगर क्रेविंग कम हो सकती है। आप चाहें तो रागी, बाजरा, अमरंठ को डाइट में शामिल कर सकते हैं।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट