ताज़ा खबर
 

ओरल कैंसरः जानिए घरेलू नुस्खों से कैसे रोक सकते हैं ये घातक बीमारी

ओरल कैंसर मुंह में होने वाला कैंसर है। आमतौर पर यह मसूढ़ों, होठ, जीभ, गालों के अंदर या तालु पर हो सकता है।

प्रतीकात्मक चित्र

ओरल कैंसर मुंह में होने वाला कैंसर है। आमतौर पर यह मसूढ़ों, होठ, जीभ, गालों के अंदर या तालु पर हो सकता है। एक शोध में तकरीबन 90 प्रतिशत ओरल कैंसर के मरीज तंबाकू चबाने के आदी पाए गए हैं। इसके अलावा देर तक सूरज की रोशनी में रहने, शराब पीने, धूम्रपान करने आदि से भी ओरल कैंसर की संभावना बढ़ती है। अपनी जीवनशैली में थोड़ा बदलाव कर हम ओरल कैंसर से निजात पाने में कामयाब हो सकते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स के बारे में बताने वाले हैं जो आपको ओरल कैंसर से बचाव में मदद कर सकते हैं।

हरी पत्तेदार सब्जियां खाएं – हरी पत्तेदार सब्जियों में एंटी-कैंसर प्रॉपर्टी काफी मात्रा में पाई जाती है। रोजाना हरी पत्तेदार सब्जियां खाने वाले लोगों में कैंसर का खतरा कम होता है। यह ट्यूमर के साइज को कम करने के अलावा इसे मुंह के अन्य भागों में फैलने से भी रोकता है।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J3 Pro 16GB Gold
    ₹ 7490 MRP ₹ 8800 -15%
    ₹0 Cashback
  • Lenovo K8 Plus 32GB Fine Gold
    ₹ 8299 MRP ₹ 10990 -24%
    ₹1245 Cashback

ग्रीन टी – शरीर में फ्री रेडिकल्स और हानिकारक ऑर्गेनिज्म की मौजूदगी भी ओरल कैंसर का कारण बनती है। इन कारकों को ग्रीन टी से कम किया जा सकता है। ग्रीन टी पीने से इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स मुंह के बैक्टीरिया को समाप्त कर देते हैं जिससे ओरल कैंसर का खतरा कम होता जाता है। दिन भर में दो कप ग्रीन टी ओरल कैंसर रोकने में काफी मददगार हो सकता है।

सही तरीके से खाएं खाना – अगर आपकी डाइट एंटी-कैंसर वाले पोषक तत्वों से भरपूर है तो आपको इस बात का ध्यान देना भी बेहद जरूरी है कि आप उनका सही तरीके से सेवन करें। उन्हें ऐसे पकाएं कि उनके जरूरी पोषक तत्व खत्म न हो जाएं। इसके लिए कुछ सब्जियों को कच्चा खाने की जरूरत होती है। कुछ ऐसे भी होते हैं जिन्हें ठीक तरह से पकाकर खाना चाहिए।

सन प्रोटेक्शन जरूरी – सूरज की पराबैगनी किरणें स्किन कैंसर का कारण होती हैं यह बात हम सभी जानते हैं। इस खतरें की जद में हमारे होंठ भी होते हैं। ऐसे में हमें अपने होठों को भी सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने की कोशिश करनी चाहिए। इसके लिए आप हैट, छाता या फिर होठों पर कोई ऐसा स्किन बाम लगाकर बाहर निकलें जिससे पराबैगनी किरणों से उनकी सुरक्षा हो सके।

टमाटर खाएं – टमाटर में लाइकोपीन मौजूद होता है। यह कैंसर के खतरे को काफी कम कर देता है। इसके एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व शरीर में फ्री रेडिकल्स की संख्या कम करने में मददगार होते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन सी स्किन सेल्स को किसी भी तरह का नुकसान पहुंचने से बचाता है और ओरल कैंसर का खतरा कम करता है।

कम शराब का सेवन – शराब का सेवन आपके शरीर की कैंसर से लड़ने की क्षमता में कमी लाता है। कम मात्रा में एल्कोहल का सेवन ज्यादा नुकसानदेह नहीं होता लेकिन अगर आप दिन भर में तीन बार से ज्यादा शराब पीते हैं तो आपको ओरल कैंसर होने का खतरा बढ़ता है।

तंबाकू और स्मोकिंग से परहेज करें – तंबाकू चबाना और सिगरेट पीना ओरल कैंसर होने के प्रमुख कारकों में से एक है। ओरल कैंसर से बचने के लिए आपको इनका सेवन बंद करना ही होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App