ताज़ा खबर
 

अगर गला खराब है तो घर पर करें ये काम, जानिए- कब लें एंटीबॉयोटिक का सहारा?

आइए जानते हैं गला खराब होने पर क्या करना चाहिए और किस वक्त एंटी-बॉयोटिक दवाई लेनी चाहिए।

आप उन चीजों का सेवन करें, जिसमें विटामिन सी की मात्रा अधिक हो, जिससे कि आपको आराम मिल सके।

जब आपका गला खराब हो जाता है तो इससे गले में खराश, गले में दर्द होने लगता है और खाने-पीने में दिक्कत होती है और कई बार बुखार जैसा भी लगता है। यह दिक्कत मौसम में हो रहे बदलाव के वक्त ज्यादा होती है और हर जरा सी लापरवाही बरतने से इसका सामना करना पड़ता है। आइए जानते हैं गला खराब होने पर क्या करना चाहिए और किस वक्त एंटी-बॉयोटिक दवाई लेनी चाहिए।

वायरल इंफेक्शन, बैक्टिरियल इंफेक्शन और कुछ चोट की वजह से या कई अन्य दिक्कत से होती है। अगर आपको भी ऐसी कोई दिक्कत है तो आप घर पर कुछ नुस्खों के जरिए इससे निजात पा सकते हैं। इसके लिए सबसे अच्छा उपाय है कि आप गर्म पानी और नमक के गरारे करें और जल्दी आराम के लिए उसमें थोड़ी हल्दी भी मिला लें, ऐसा करने से आपको जल्द ही आराम मिलेगा। वहीं शहद भी इस बीमारी के लिए दवा का काम करता है जो कि गले की खराश में सीधा असर करता है। इसी के साथ आप उन चीजों का सेवन करें, जिसमें विटामिन सी की मात्रा अधिक हो, जिससे कि आपको आराम मिल सके।

कई लोग गला खराब होने पर लहसून का इस्तेमाल भी करते हैं। जानकारों का कहना है कि कच्चे लहसून में एंटी बैक्टिरिया, एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो कि आपके गले के लिए फायदेमंद होता है। इसी के साथ ही आप अदरक की चाय, तुलसी के पत्ते, तुलसी का काढ़ा, चिकन सूप आदि का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको बिना दवाई के आराम मिल जाता है। वहीं कई लोग घरेलू नुस्खों के स्थान पर गोली लेना ज्यादा पसंद करते हैं। इंडियन मेडिकल एशोसिएशन (आईएमए) के मनोनीत अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल के अनुसार सांस प्रणाली की ऊपरी नली में संक्रमण की वजह से भी यह हो सकता है। इसका पता केवल लैब टेस्ट से ही लगाया जा सकता है। जब जरूरत न हो, तब एंटीबायोटिक का प्रयोग भी हानिकारक हो सकता है। ज्यादा दिक्कत होने पर ही दवाई का सहारा लें और हो सके तो एक बार चिकित्सक से सलाह जरुर ले लें।

भाजपा सांसद आरके सिंह ने कहा- "भारत तेरे टुकड़े होंगे, कहने वालों को पटक कर मारेंगे"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App