ताज़ा खबर
 

बलगम की समस्या से हैं परेशान, तो आजमाएं ये घरेलू उपचार

How to Get Rid of Phlegm: बलगम की समस्या अत्यधिक धूम्रपान, बुखार और अस्थमा का परिणाम हो सकता है। कुछ घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

बलगम की समस्या (Source: Dreamstime)

Natural Phlegm remedies: बलगम की समस्या सर्दी और खांसी के कारण होती है। अधिक थ्रोट इंफेक्शन होने की वजह से कंजेशन की समस्या हो जाती है जिससे आपकी ब्रोन्कियल ट्यूब ब्लॉक हो जाती है। यह अक्सर रेस्पीरेट्री इंफेक्शन का कारण बनता है और सांस लेने की प्रक्रिया को कठिन बना देता है। इससे पहले कि यह गंभीर हो जाए इसका इलाज करना सबसे महत्वपूर्ण है। गले में महसूस हुई रुकावट और जमाव से सांस लेने में परेशानी, बुखार और शरीर में कमजोरी महसूस होने लगती है। बलगम में बैक्टीरिया और वायरस होता है जो सूजन पैदा करता है। बलगम की समस्या अत्यधिक धूम्रपान, बुखार और अस्थमा का परिणाम हो सकता है। कुछ घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

नमक वाला पानी:
बलगम होने पर नमक का पानी अत्यधिक प्रभावी होता है। आप इसमें नमक मिला कर गुनगुने पानी से गरारा कर सकते हैं। यह गले में मौजूद जलन को शांत करने में मदद करता है। यह ब्रोन्कियल ट्यूब के मार्ग को भी साफ करता है और श्वास प्रक्रिया को आसान बनाता है। आप इसे दिन में दो-तीन बार कर सकते हैं।

अदरक:
अदरक में बैक्टीरिया और वायरस के संक्रमण से लड़ने की क्षमता है। यह आमतौर पर गले में होने वाले इंफेक्शन से छुटकारा पाने के लिए उपयोग किया जाता है। यह गले में मौजूद बलगम को कम करने में मदद करता है। आप अदरक वाली चाय भी पी सकते हैं।

हल्दी:
हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण होता है जो बलगम की समस्या को कम करता है। यह गले में मौजूद बैक्टीरिया को मारता है और बलगम के उत्पादन को प्रतिबंधित करता है। अपनी रिकवरी को तेज करने के लिए आप दिन में दो बार हल्दी वाला दूध पी सकते हैं।

भाप:
बलगम से छुटकारा पाने के लिए भाप सबसे अच्छे तरीकों में से एक है। यह गले में जमा होने वाली कफ को खत्म करने में मदद करता है। इसे दिन में दो या तीन बार किया जा सकता है। आप स्टीम बाथ भी ले सकते हैं।

(और Health News पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 NIPAH VIRUS: भारत में फिर पैर पसार रहा खतरनाक निपाह वायरस, इन उपायों से खुद को रखें सेफ
2 इस अजीब बीमारी का शिकार हो चुकी हैं Sushmita Sen, जा सकती थी जान
3 सेहत पर घातक असर डालता है ई-सिगरेट, डीएनए तक को पहुंचाता है नुकसान