ताज़ा खबर
 

खराश से लेकर इम्युनिटी मजबूत करने तक, इन बीमारियों में कारगर है शहद; जानें- इस्तेमाल का तरीका

शहद में एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। जो घाव के लिए आक्सीजन और हीलिंग यौगिक को बढ़ावा देते हैं, यह तेजी से और बेहतर रूप से घाव को भरने में मदद करता है।

शहद खांसी-जुकाम में बहुत गुणकारी है।

शहद घरों में पाई जाने वाली एक सामान्य खाद्य पदार्थ है। ये औषधीय गुणों से भी भरपूर है। शहद का औषधीय इतिहास लगभग 8 हजार साल पुराना है। आयुर्वेद विशेषज्ञों के मुताबिक शहद इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर शरीर पर लगी चोट और संक्रमण के उपचार के लिए एक कारगर औषधि है। शहद को एंटीऑक्सीडेंट का पावर हाउस भी कहा जाता है। आइये जानते हैं शहद किन बीमारियों से लड़ने में कारगर है।

1. इम्युनिटी मजबूत करने में है कारगर: शहद में मौजूद एंटी-वायरल, एंटी-फंगल और फाइटोन्यूट्रिएंट्स के एंटीबैक्टीरियल गुण पाचनतंत्र को दुरुस्त रखने में मदद करते हैं। फ्लेवोनॉयड्स और पॉलिफिनॉल्स एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में शरीर में मौजूद मुक्त कणों को बेअसर करने में मदद करता है और प्रतिरक्षा कोशिकाओं को क्षति से भी बचाता है। इसीलिये इसे इम्युनिटी के लिए रामबाण का दर्जा दिया जाता है।

2. घाव पर भी असरदार: शहद में एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। जो घाव के लिए आक्सीजन और हीलिंग यौगिक को बढ़ावा देते हैं, यह तेजी से और बेहतर रूप से घाव को भरने में मदद करता है। शहद में मौजूद अम्लीय पीएच रक्त को ऑक्सीजन छोड़ने के लिए प्रोत्साहित करता है जो घाव भरने के लिए महत्वपूर्ण है। साथ ही एंटीऑक्सीडेंट और हाइड्रोजन पेरोक्साइड तत्व जलन से राहत दिलाते हैं। घाव में हर 12 से 48 घंटों में 15ml से 30 ml शहद लगाकर ड्रेसिंग करने से घाव जल्दी भर जाते हैं।

3. गले की खराश से राहत : 2018 में पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड और नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर एंड केयर एक्सीलेंस में एंटीबायोटिक दवाओं में खांसी के इलाज के लिए शहद के उपयोग की सिफारिश की। शहद खांसी की गंभीरता और आवृत्ति को कम करता है। यह एक गाढ़ा , चिपचिपा और नरम पदार्थ है, जो गले को शांत करने और और अवरोध से बचाने के लिए फायदेमंद औषधि है। एक गिलास गुनगुने पानी में 2 बड़े चम्मच और थोड़ा नींबू निचोड़ लें और इसका सेवन करें।

4. बेहतर नींद के लिए भी कारगर है शहद : शहद को बेहतर नींद के लिए भी कारगर माना जाता है और अच्छी नींद सेहत के लिए बेहद जरूरी है। रात में सोने से पहले गर्म दूध में एक चम्मच शहद का सेवन नींद के लिए अच्छा माना जाता है। दरअसल में मौजूद सेरोटोनिन ( एक न्यूरोट्रांसमीटर जो आप की मनोदशा में सुधार करता है ) शरीर में पहुंचकर मेलाटोनिन में परिवर्तित हो जाता है, जो लंबी नींद और गुणवत्ता के लिए जरूरी है।

5. वजन भी घटाने में कारगर: शहद की मदद से लीवर ग्लूकोस का उत्पादन करता है ।यह ग्लूकोस मस्तिष्क के शर्करा स्तर को ऊंचा रखता है और वसा को कम करने वाले हार्मोन का उत्सर्जन करता है। इसके अलावा शहद में केवल फ्रुक्टोज, ग्लूकोस, माल्टोज और सुक्रोज शामिल है लेकिन फाइबर, वसा और प्रोटीन नहीं होता है इसीलिए शहद का सेवन वजन घटाने के लिए कारगर उपाय है और यह चीनी का एक अच्छा विकल्प भी है क्योंकि यह रक्त शर्करा के स्तर को इतनी जल्दी नहीं बढ़ाता है।

Next Stories
1 Uric Acid घटाने में मददगार हैं अलसी के बीज, ये फूड्स भी हैं फायदेमंद
2 खांसी-सर्दी के साथ डेंगू से बचाव में भी कारगर है ये आयुर्वेदिक काढ़ा, जानिये घर पर बनाने की विधि
3 Diabetes: पेट दर्द से लेकर सांस लेने में तकलीफ़ तक, जानें- ब्लड शुगर बढ़ने पर होती हैं क्या-क्या दिक्कतें
ये पढ़ा क्या?
X