ताज़ा खबर
 

यूरिक एसिड कंट्रोल करने में रामबाण से कम नहीं ये घरेलू उपाय, बाबा रामदेव से जानिये

स्वामी रामदेव की मानें तो योग के जरिए शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को कंट्रोल किया जा सकता है। इसके अलावा इन चीजों का सेवन करने से भी आपको लाभ मिल सकता है।

यूरिक एसिड को कम करने में विटामिन सी भी अहम भूमिका निभाता है

Uric Acid: अगर आपके घुटनों, जोड़ों और हाथों-पैरों की उंगलियों में तेज दर्द है, तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। क्योंकि, यह शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने का संकेत हो सकता है। हमारे शरीर में यूरिक एसिड खान-पान और सेल्स के जरिए बनता है। यूं तो किडनी यूरिक एसिड को फिल्टर कर मूत्र मार्ग के जरिए शरीर से बाहर निकाल देती है। लेकिन अगर बॉडी में इसकी मात्रा बढ़ जाए, तो यह जोड़ों के बीच में क्रिस्टल के रूप में जमा होने लगता है। इसके कारण कई तरह की खतरनाक बीमारियां भी हो सकती हैं, जिनमें मल्टीपल ऑर्गन फेलियर, किडनी फेलियर और दिल से संबंधित समस्याएं शामिल हैं।

बता दें, शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने की स्थिति को हाइपरयूरिसीमिया कहा जाता है। लेकिन ऐसा नहीं कि यूरिक एसिड को घरेलू उपायों से कम नहीं किया जा सकता। आप अपने खानपान और लाइफस्टाइल में बदलाव करके यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित कर सकते हैं।

स्वामी रामदेव की मानें तो योग के जरिए शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को कंट्रोल किया जा सकता है। इसके अलावा इन चीजों का सेवन करने से भी आपको लाभ मिल सकता है।

-हरी सब्जियां: यूरिक एसिड को नियंत्रित करने के लिए हरी सब्जियों का सेवन काफी फायदेमंद होता है। हरी सब्जियों में भरपूर मात्रा में पोषक तत्व होते हैं, जो यूरिक एसिड के साथ-साथ कई बीमारियों से बचाने में कारगर हैं। स्वामी रामदेव के मुताबिक यूरिक एसिड की समस्या से निजात पाने के लिए अपनी डाइट में हरी सब्जियों का शामिल करना चाहिए।

-सेब का सिरका: सेब का सिरका समग्र स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करने में कारगर हैं। यह पाचन तंत्र को भी स्वस्थ करने में मदद करता है। ऐसे में रोजाना सेब के सिरके का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इसके लिए एक गिलास पानी में 1 से 2 चम्मच सेब का सिरका डालकर पीना चाहिए।

-लौकी का सूप: यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए लौकी का सूप कारगर है। क्योंकि, इसमें विटामिन सी, बी और आयरन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। ऐसे में आपको नियमित तौर पर लौकी के जूस का सेवन करना चाहिए। हालांकि, इस बात का ध्यान रखें कि लौकी कड़वी ना हो।

Next Stories
1 रात में पूरी नींद लेकर तेज और स्वस्थ रखें अपना दिमाग
2 इन फलों का सेवन करने से बचें डायबिटीज के मरीज, तेजी से बढ़ सकता है ब्लड शुगर लेवल
3 बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम करने में कारगर हैं घर में बनें ये जूस, जानिये इस्तेमाल की पूर्ण विधि
ये पढ़ा क्या?
X