ताज़ा खबर
 

Uric Acid: हाई यूरिक एसिड को कम करने में कारगर है धनिया पत्ता, ऐसे करें इस्तेमाल

Uric Acid Home Remedies: धनिया पत्ता में डाइयूरेटिक गुण मौजूद होते हैं जिससे किडनी एक्टिव रूप से फंक्शन करने में सक्षम होता है।

धनिया पत्ता में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण भी पाए जाते हैं जो गठिया व पैरों के सूजन को कम करने में मददगार होते हैं

Uric Acid Home Remedies: यूरिक एसिड एक ऐसा केमिकल है जो शरीर में तब बनता है जब शरीर प्यूरीन नामक केमिकल का संसाधन करता है यानि उसको छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ता है। शरीर में जब यूरिक एसिड अधिक मात्रा में बनने लगता है तो इससे लोग कई बीमारियों से पीड़ित हो जाते हैं। गठिया रोग, जोड़ों में दर्द, गाउट (एक प्रकार का गठिया) और सूजन जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का एक आम कारण यूरिक एसिड का बढ़ना भी माना जाता है। प्यूरीन केमिकल हमारे शरीर में खुद-ब-खुद तो बनते ही हैं, साथ में ये केमिकल कुछ फूड आइटम्स में भी मौजूद होते हैं । ऐसे में ये जानना बहुत जरूरी है कि शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को कंट्रोल करने के लिए क्या खाना फायदेमंद रहेगा और क्या नहीं। हाई यूरिक एसिड के लिए धनिया पत्ता का सेवन हो सकता है लाभदायक-

यूरिक एसिड के मरीज इसलिए खाएं धनिया पत्ता: हरा धनिया में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं, साथ ही इसमें डाइ-यूरेटिक गुण भी मौजूद होते हैं जिससे किडनी एक्टिव रूप से फंक्शन करने में सक्षम होता है। इन सब के अलावा धनिया पत्ता में एंटी-इंफ्लामेट्री गुण भी पाए जाते हैं जो गठिया व पैरों के सूजन को कम करने में मददगार होते हैं। वहीं, धनिया पत्ता के सेवन से किडनी स्टोन भी यूरीन के मार्ग से निकल जाते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल: आप धनिया पत्ता को खाने की चीजों में जैसे कि सब्जी और दाल में डालकर यूज कर सकते हैं। इसके अलावा, धनिया पत्ती की चटनी भी बहुत स्वादिष्ट लगती है, साथ ही इसे बनाने की विधि भी बहुत आसान है। इसे बनाने के लिए कुछ मात्रा में हरा धनिया लेकर धो लें। अब उसे 1 हरी मिर्च, 3-4 लहसुन की कलियां, नमक, जरा सा जीरा और थोड़े नींबू के रस के साथ मिक्सी में पीस लें। आप चाहें तो इसमें सरसो के तेल की 1-2 बूंद डाल सकते हैं। वहीं, धनिया को सुबह के वक्त पानी में अच्छे से उबाल लें और फिर छानकर सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।

ये हैं दूसरे फायदे: धनिया पत्ता का सेवन पाचन तंत्र को ज्यादा मजबूत बनाता है। इसके सेवन से लीवर की सक्रियता भी बढ़ जाती है। वहीं, डायबिटीज के मरीजों में ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में भी हरा धनिया अहम भूमिका निभाता है। इसके अलावा, बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने और गुड कोलेस्ट्रॉल को शरीर में बढ़ाकर ये वजन कम करने में तो मदद करता ही है, साथ में दिल को तंदरुस्त रखने में भी धनिया पत्ता का योगदान होता है।

Next Stories
1 हाई यूरिक एसिड के मरीज जरूर करें हल्दी का सेवन, ये आयुर्वेदिक तरीके भी आ सकते हैं काम
2 थायरॉयड के मरीज अपनी डाइट में शामिल करें ये 5 फूड्स, कंट्रोल करने में मिलेगी मदद
3 डायबिटीज: अमरूद के पत्ते ब्लड शुगर कंट्रोल करने में है कारगर, ऐसे करें इस्तेमाल
ये पढ़ा क्या?
X